29 मार्च 2018

सब्जा का हिम आपके वजन को कम करता है

Falooda Seeds Detox Water Reduces  Weight


सब्जा (Falooda-Seeds) को तुलसी के बीज (Basil-Seeds) भी कहा जाता है यह काले रंग के छोटे-छोटे बीज होते हैं जिसे पानी में भिगोया जाता है पानी में भिगोने से थोड़ी देर में यह फूल जाते हैं इन बीजों की सबसे आसान पहचान यही हैं कि यह बीज फालूदा में भी डाले जाते हैं-

सब्जा का हिम आपके वजन को कम करता है

सब्जा बीज को तुकमलंगा भी कहा जाता है यह एक विशिष्ट किस्म की तुलसी के बीज होते हैं इस तुलसी को स्वीट-बेसिल (Sweet-Basil) कहा जाता है तथा इसके बीज एक विशिष्ट गंध लिए होते हैं हालांकि सब्जा का कोई विशिष्ट स्वाद नहीं होता लेकिन जब इसे पानी में भिगोया जाता है तब इसमें से बेहद हल्की तथा आल्हादक भीनी सुगंध आती है सब्जा को हमेशा भिगोकर ही उपयोग किया जाता है-

सब्जा सीड्स (Falooda Seeds) क्या है-


1- आजकल विदेशों में  चिया सीड्स (Chia Seed) पीने का काफी प्रचलन है और अक्सर लोग सब्जा को ही चिया सीड्स मान लेते हैं लेकिन सब्जा भारतीय है तथा चिया सीड्स अफ्रीकन प्रजाति के बीज है-

2- सब्जा चिया सीड्स से कई ज्यादा उपयोगी व फायदेमंद है इसीलिए आजकल विदेशों में सब्जा (Falooda Seeds) की मांग बेहद बड़ी है लेकिन बड़े ही आश्चर्य व खेद की बात है कि भारतीयों ने सब्जा सीड्स को सिर्फ फालूदा तक की सीमित रखा है जब की सब्जा औषधीय गुणों तथा पौष्टिक तत्वों से भरपूर है-

3- प्राचीन ग्रंथों में सब्जा का उल्लेख नहीं मिलता है लेकिन भगवतगोमंडल जैसे ग्रंथ में सब्जा का उल्लेख मिलता है सब्जा को तुख्मेरिहान नाम से भी जाना जाता है-

4- अरबस्तान तथा खाड़ी देशों में जहां गर्मी अपनी चरम सीमा पर होती है वहां सब्जा को भोजन में विशिष्ट स्थान दिया गया है कई प्राचीन ग्रंथों में उल्लेखित है कि गुफाओं में रहने वाले साधु सब्जा बीज तथा पानी का सेवन करके महीनों तक अन्नप्राशन किए बिना रहते हैं-

सब्जा के गुण-


सब्जा बीज पेट के लिए काफी ठंडा तथा फाइबर से भरपूर माने जाते हैं स्त्रियों में होने वाली माहवारी संबंधी समस्याएं, गर्मियों की समस्या, बार-बार गर्भपात होना, शरीर का गरम रहना (Hot Flashes), पेट में जलन गुदाद्वार की जलन, पैरों के तलवों की जलन जैसी समस्याओं में सब्जा के हिम का उपयोग बेहद हितकारी माना गया है इसे रात को पानी में भिगोकर सुबह पानी में गुड़ मिलाकर या नींबू निचोड़कर या गुलकंद मिलाकर पीने से उष्णता संबंधित सारी समस्याएं दूर होती है-

गर्मियों में होने वाले सिरदर्द, आंखों की जलन, मुंह के छाले (Mouth Ulcer), तथा त्वचा पर डिहाइड्रेशन से होने वाले दाग धब्बे या खुजली (Itching) में सब्जा बेहद कारगर माना गया है इसे आप सादे पानी में डालकर या शरबत में मिलाकर या मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं-

सब्जा का हिम (Falooda Seeds Detox Water) -


1- सब्जा की मात्रा से 20 से 25 गुना पानी मिलाकर सब्जा को पूरी रात भिगोया जाता है तथा सुबह छाने बिना ही उस पानी में मिश्री, शहद या नींबू डालकर उसका सेवन किया जाता है विदेशों में सब्जा को सुप में डालकर तथा फलों के रस में डालकर भी पिया जाता है-

सब्जा का हिम आपके वजन को कम करता है

2- सब्जा का हिम पीने से पेट भरा हुआ लगता है तथा भूख कम लगती है इसीलिए जिन्हें वजन कम करना हो (Weight Loss) ऐसे लोगों ने सब्जा का हिम अवश्य पीना चाहिए इससे पेट भरा हुआ लगता है तथा खाली पेट होने वाली एसिडिटी से भी बचा जा सकता है तथा कमजोरी भी नहीं लगती है और वजन कम होने में आसानी होती है-

3- डायबिटीज (Diabetes) में भी सब्जा का हिम बेहद लाभदायक है इसे शहद या बिना शहद डाले भी सेवन कर सकते हैं डायबिटीज के रोगी हर्बल टी में भी सब्जा का हिम डालकर सेवन कर सकते हैं-

4- महिलाओं के रक्त प्रदर (Metrorrhagia) या ज्यादा महावारी आना जैसी समस्याओं में सब्जा के हिम में दूध में मिश्री मिलाकर पीने से लाभ होता है तथा ब्लीडिंग रूकती है-

5- सब्जा प्रमेह रोगों में भी गुणकारी है रात को भिगोए हुए सब्जा के पानी में आधा चम्मच शहद डालकर पीने से प्रमेह रोगों तथा प्रमेह रोगों से आई कमजोरी में राहत मिलती है-

6- एसिडिटी तथा जलन (Heart Burn) जैसी तकलीफों में सब्जा के हिम में गुड तथा एक चुटकी जीरा डालकर पीने से लाभ होता है-

7- कष्टमूत्र तथा पेशाब मार्ग में होने वाली जलन व यूरिन इन्फेक्शन (Urine Infection) जैसी समस्याओं में सब्जा के हिम में समान भाग नारियल पानी मिलाकर पीने से लाभ होता है-

8- गर्मियों में त्वचा संबंधित समस्याएं (Skin Rash) ज्यादा उभरती है तथा त्वचा पर रैशेज व खुजली होती है ऐसे में सब्जा के हिम में नारियल तेल मिलाकर अच्छे से फेंट लें तथा उसे लोशन की तरह से त्वचा पर लगाएं इससे त्वचा में ठंडक मिलती है, गर्मी से झुलसी हुई त्वचा को राहत मिलती है, त्वचा का कालापन मिटता है, खुजली तथा रेशेस की समस्याएं भी कम होती है-

इसे भी देखे-



विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Tags Post

Information on Mail

Loading...