अब तक देखा गया

2 अप्रैल 2018

स्वास्थ व सौन्दर्य वर्धक हर्बल डिटॉक्स वाटर

Health Beauty Benefits of Herbal Detox Water


पिछले लेखों में हमने डिटॉक्स वाटर के लाभ, उपयोग तथा डिटॉक्स वाटर बनाने की विधि के बारे में विस्तार से जाना तथा आपने साथ ही आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर के बारे में विस्तृत जानकारी ली इस लेख में हम आपको हर्बल डिटॉक्स वाटर (Herbal Detox Water) बनाने की विधि तथा लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे-

स्वास्थ व सौन्दर्य वर्धक हर्बल डिटॉक्स वाटर

हर्बल डिटॉक्स वाटर (Herbal Detox Water) कैसे बनाए-


स्वास्थ व सौन्दर्य वर्धक हर्बल डिटॉक्स वाटर

आपकी अपनी नीचे दी गई समस्या के अनुरूप औषधियों को चुनकर 1 लीटर पानी में कम से कम 4 घंटे तक भिगोकर रखें या आप रात को इन औषधि को जल में भिगोकर चंद्र की किरण उस पर पड़ती रहे उस हिसाब से रखें सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपका हर्बल डिटॉक्स वाटर तैयार हैं आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

हर्बल डिटॉक्स वाटर (Herbal Detox Water) और समस्याएं-



थकान (Fatigue) कमजोरी व ऊर्जा बढ़ाने के लिए- 

5 फुल चक्र (Star Anise) तथा दो बादाम उपर लिखी विधि से बना कर प्रयोग कर सकते है-

रक्तचाप (Blood Pressure) कम करना-

अजमोद के दो डंठल, पांच पार्सली के पत्ते तथा एक चम्मच धनिया (Coriander Seed) बीज को जल में भिगोकर इस तरह रात को खुले में रक्खें कि चंद्र की किरण उस पर पड़ती रहे फिर सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

सूजन (Swelling) कम करना-

एक नीबूं (Lemon) की कटी हुई स्लाईज व एक चम्मच छोटा अजवाइन इन सभी को साफ़ जल में भिगोकर रक्खें फिर सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

चयापचय की गति (Metabolisum) को बढ़ाना- 

2 फुलचक्र (Star Anise), 2 इंच लंबा दालचीनी (Cinamon) का टुकड़ा साफ़ जल में भिगोकर इस तरह रात को खुले में रक्खें कि चंद्र की किरण उस पर पड़ती रहे फिर सुबह उठकर यह पानी आप दिन भर में चार-पांच बार पिए-

शारीरिक प्रणाली (Physical System) साफ रखना-

चार टुकड़ों में कटा एक नींबू, 6 पुदीना (Mint) के पत्ते, आधी कटी हुई किवी साफ़ जल में रात भर भिगोकर सुबह किसी बोतल में रख लें पूरे दिन में कई बार में इसका सेवन करें दूसरे दिन इसी प्रकार आप इसे दूबारा बना लें-

रक्त शर्करा (Blood Sugar) को कम करना- 

10 ग्राम मेथीदाना, एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर, जामुन के 2 पत्ते इस सभी को लेकर साफ़ जल में रात भर के लिए भिगो दे अब इस जल को आपको पूरे दिन में कई बार में पीना है पानी की मात्रा एक लीटर ही रक्खें-

रोगप्रतिकारक क्षमता (Immunity) बढ़ाना- 

एक तेजपत्ता, पांच छोटी इलायची और 2 लौंग को एक लीटर साफ़ जल में भिगोकर इस तरह रात को खुले में रक्खें फिर सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

जुकाम (Common Cold) की रोकथाम- 

2 लौंग, 3 छोटी इलायची, 5 काली मिर्च को रात भर साफ़ जल में भिगोकर सुबह दिन में कई बार सेवन करें-

चमकीली त्वचा (Glowing Skin) के लिए-

संतरे (Orange) के दो टुकड़े, 5 बारीक कटी स्ट्रोबेरी एक चम्मच अनारदाना, 2 स्लेज किवी को शद्ध एक लीटर जल में रात भर भीगने दें और दूसरे दिन इस जल का सेवन थोडा-थोडा करके कई बार करने से कुछ ही दिन में आपकी स्किन चमकने लगती है चेहरे पर भी निखार आता है-

हैंगओवर (Hangover) के लिए- 

एक छोटा चम्मच अदरक, एक सेब (Apple) या नाशपाती का उपर दी गई प्रयोग निर्माण विधि से ही प्रयोग करें-

सिर दर्द (Headache) के लिए- 

एक इंच अदरक (Ginger) का टुकड़ा, सेब की चार पांच फांके इनको रात भर भिगो कर प्रात: सेवन करें-

गैस व पाचन (Gas-Digestion) के लिए- 

एक छोटा चम्मच अजवाइन, 2 काली मिर्च (Pepar) ,एक चम्मच अनारदाना को साफ़ जल में भिगोकर इस तरह रात को खुले में रक्खें कि चंद्र की किरण उस पर पड़ती रहे फिर सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

दुर्गंधित श्वास (Bad Breath) के लिए- 

एक लौंग (Clove), पुदीने के 10 पत्ते को लेकर रात भर के लिए जल में भिगो दें और फिर पूरे दिन में कई बार आपको इसी जल को पीना है आपके मुंह की दुर्गन्ध से छुटकारा के लिए ये उत्तम उपाय है-

व्यग्रता (Anxiety) के लिए- 

केसर (Saffron) के पांच तन्तु (रेशे) को एक लीटर जल में रात को भिगो कर दिन भर इस पानी का सेवन करें आपको (Anxiety) में लाभ होगा-

अवसाद (Depression) के लिए- 

गुलाब (Rose) की पंखुड़ियां केसर के दो तंतु का प्रयोग उपर लिखी विधि के अनुसार करें-

थकान (Fatigue) के लिए- 

आधा नींबू, 4-5 स्ट्रॉबेरी, 2 फूल चक्र (Star Anise) को उपरोक्त विधि के अनुसार प्रयोग करें-

मांसपेशी के ऐठन (Muscle Spasms) के लिए- 

संतरे की 2-3 फांके, 6 तुलसी (Basil) के पत्ते, अदरक का 1 इंच का टुकड़ा को साफ़ जल में भिगोकर इस तरह रात को खुले में रक्खें कि चंद्र की किरण उस पर पड़ती रहे फिर सुबह उठकर यह पानी किसी साफ बोतल में भर ले आपको पूरे दिन यही पानी पीना है-

मतली (Vomitting) के लिए- 

एक छोटा चम्मच धनिया, 7 पुदीने के पत्ते साफ़ जल में भिगोकर प्रयोग करें-

हाइपर एसिडिटी (Acidity) के लिए- 

एक सेब की पतली फांके, 1 छोटा चम्मच अदरक का रस या टुकडा, एक चम्मच जीरा इन सभी को रात को भिगो दे और सुबह इस जल का सेवन करने से आपको लाभ होगा-

पेट की मरोड़ (Abdominal Gripe) के लिए- 

एक छोटी चम्मच जावित्री पाउडर, 3 तेज पत्ते (Bay leaves) को एक लीटर शुद्ध जल में भिगो कर सेवन कर सकते है-

मासिक धर्म के दर्द (Menstrual Pain) लिए- 

एक इंच अदरक का टुकड़ा, 1 छोटा चम्मच सौफ उपरोक्त विधि अनुसार सेवन करें-

त्वचा की एलर्जी (Skin Allergy) के लिए- 

दो कोकम के टुकड़े, एक छोटा चम्मच मिश्री, चुटकी भर नमक को जल में रात भर भीगने दें सुबह कई बार दिन में इसका सेवन करें-

मुंह के अल्सर (Ulcer) के लिए- 

ताजा धनिया के पत्ते का एक गुच्छा, 4 बड़े चम्मच खरबूजे (Musk melon) के टुकड़े का सेवन करें-

इसे भी देखे-


प्रस्तुती- Chetna Kanchan Bhagat-Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...