29 अप्रैल 2018

आम्र कल्प चिकित्सा का प्रयोजन-सेवन तथा सावधानियां

loading...

पिछले लेखों में हमने आम (Mango) के गुण, लाभ तथा मनुष्य का संपूर्ण कायाकल्प (Rejuvenation) करने वाले तीन विशिष्ट आम्रपाकों के बारे में विस्तार से जाना है चरक, सुश्रुत, वाग्भट तथा मदनपाल सभी आयुर्वेद के महर्षियों ने अपने लिखे संहिताओ में आम फल के बड़े ही गुणगान किए हैं-

आम्र कल्प चिकित्सा का प्रयोजन-सेवन तथा सावधानियां

आम के गुणों को वर्णित करते हुए राजवैध्य मदनपाल लिखते हैं कि-

   पकवाम्र जनयेदायू मार्सशुक्रबल पदम ||१०|| -(मदनपाल निघंटू)

अर्थात-

पका हुआ आम आयुष्य देने वाला, वीर्य को बढ़ाने वाला, बल को बढ़ाने वाला तथा जवानी को बरकरार रखने वाला उत्तम फल हैं-

आम के इन्ही  विशिष्ट गुणों तथा स्वाद व मनोरम सुगंध के चलते आम्रफल (Mango) देवताओं, मनुष्यों तथा समस्त शाकाहारी पशु पक्षी का प्रिय भोजन माना गया है-

आम्र कल्प चिकित्सा का प्रयोजन-सेवन तथा सावधानियां

हमारे प्राचीन ग्रंथों तथा धार्मिक कथाओ तथा अब तो आधुनिक संशोधनों के चलते यह बात सिद्ध हो गई है कि आम में मनुष्य को बल, ऊर्जा, स्वास्थ्य-सौंदर्य तथा दीर्घायु देने के गुण पाए जाते हैं और इसीलिए आजकल विदेशों में मेंगो थेरेपी (Mango Therapy) के नाम से आम्र कल्प चिकित्सा (Amra Kalpa Therapy ) के प्रयोग का प्रचलन काफी बढ़ा हैं विदेशो में बड़े-बड़े हेल्थ सेंटर्स 15 या 21 दिन के आवासीय शिबिर का आयोजन करके लोगो को विधिवत आम्र कल्प का सेवन करवाते हैं-

बड़े खेद की बात तो यह है कि हम भारतीयों ने आम फल (Mango) को सिर्फ जीभ के स्वाद तक ही सीमित रख कर इसे एक स्वादिष्ट भोजन ही मान लिया है और हम इसका सेवन विधिवत ना करते हुए अलग-अलग तरह के खाद्य पदार्थ, अचार तथा मिठाइयां बना कर ही करना जानते हैं जिसकी वजह से कहीं ना कहीं हम इसके औषधीय गुणों के लाभ से वंचित रह जाते हैं अव्वल तो हमें आम्र कल्प (Amra Kalpa)  के बारे में जानकारी ही नहीं है और जो जानकारी उपलब्ध है उसमें सिर्फ कुछ दिन तक आम और दूध के सेवन को ही आम्र कल्प माना गया है लेकिन यह एक शास्त्रोक्त विधि है तथा पूर्व चिकित्सा कर्म, मुख्य चिकित्सा कर्म तथा पश्चात चिकित्सा कर्म जैसे तीन भागों में अगर इसे विधिवत किया जाए तो आम्र कल्प निश्चित ही उत्तम फलदायी चिकित्सा है यह मनुष्य का संपूर्ण कायाकल्प (Rejuvenation) करने में सक्षम तथा रोग मुक्ति का उत्तम उपाय है-

आज हम आपको इस लेखन माला के जरिए आम्र कल्प (Amra Kalpa)  के गुण सावधानियां तथा आम्र कल्प के शास्त्रोक्त तरीके के बारे में बताएंगे जो आप घर बैठे करके साल भर स्वस्थ रह सकते हैं-

आम्र कल्प चिकित्सा के दौरान सावधानियां-


1- आम्र कल्प चिकित्सा आप 7 दिन 15 दिन या 40 दिन तक कर सकते हैं-

2- अगर यह करने की आपको ठीक से प्रैक्टिस है तो आप इसे पूरे सीजन तक भी कर सकते हैं आज भी भारत में कई योगी तथा वैध्य है जो आम्र कल्प (Amra Kalpa) चिकित्सा तीन से चार महीनो तक करते हैं और पूरे साल अपने आप को निरोगी रखते हैं-

3- आम्र कल्प काल के दौरान हो सके उतनी विश्रांति लेनी चाहिए तेज धूप तथा तेज हवा से बचना चाहिए-

आम्र कल्प चिकित्सा का प्रयोजन-सेवन तथा सावधानियां

4- आम्र कल्प के लिए उपयोग करने वाले आम (Mango) देसी, मीठे तथा पतले रस वाले होने चाहिए-

5- आम्र कल्प के लिए आम डाली पर पके हुए याने ऑर्गेनिक (Organic) होने चाहिए-

6- आम्र कल्प के लिए खट्टे, सड़े-गले, उतरे हुए तथा कच्चे आम कतई नहीं लेना है-

7- आम्र कल्प के लिए आम का उपयोग करने से पहले आमों को आधा घंटा पानी में डुबोकर अवश्य रखें याद रहे आम्र कल्प के लिए आम (Mango) को खाना नहीं है किंतु चूसना है आयुर्वेद में आम खाने के तथा आम चूसने के लाभ अलग-अलग बताए गए हैं जिसका रस पतला होता है वो ही आम इस चिकित्सा में उपयोग में लेने हैं-

8- आम्र कल्प चिकित्सा के बीच में पानी का उपयोग कतई नहीं करना है प्यास लगने पर सिर्फ दूध (Milk) ही पीना है-

9- इस तरह इस लेख में हमने आम्र कल्प (Amra Kalpa) चिकित्सा के बारे में तथा चिकित्सा के दौरान रखने योग्य सावधानीयों के बारे में आप को विस्तार से जानकारी दी-अगली पोस्ट में हम आपको आम्र कल्प चिकित्सा की शास्त्रोक्त्र विधि तथा चिकित्सा के लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे-


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...

कुल पेज दृश्य

Upchar और प्रयोग

प्रस्तुत वेबसाईट में दी गई जानकारी आपके मार्गदर्शन के लिए है किसी भी नुस्खे को प्रयोग करने से पहले आप को अपने निकटतम डॉक्टर या वैध्य से अवश्य परामर्श लेना चाहिए ...

लोकप्रिय पोस्ट

लेबल