19 अगस्त 2018

रोगप्रतिकारक शक्ति वर्धक हरिद्राशुण्ठी पाक

loading...

Haridra Sunthi Pak-Best Immunity Booster


आयुर्वेद में औषधि से भी ज्यादा महत्व योग्य आहार तथा पथ्या-पथ्य को दिया गया है अगर हमें सेहत बढ़ानी हो, बल व ऊर्जा तथा बुद्धि बढ़ानी हो तो आहार ही सर्वोत्तम उपचार है ऋतु के अनुसार विशिष्ट आहार अगर हम अपने दैनिक भोजन में शामिल करें तो हमें औषधि लेने की आवश्यकता ही नहीं रह जाती है ऋतु अनुसार भोजन उत्तम औषधि के साथ-साथ कई रोगों की रोकथाम का काम भी करते हैं-

आज हम आपको एक ऐसे पाक की विधि बताएंगे जो अरुचि, गैस, बदहजमी, एसिडिटी, दमा, खासी, कफ इंफेक्शन जैसी समस्याओं पर गुणकारी है साथ-साथ बलवर्धक रुचि वर्धक तथा भूख भी बढ़ाते है इतना ही नहीं प्रतिदिन यह पाक खाने से रोगप्रतिकारक शक्ति (Immunity System) बढ़ती है तथा कई रोगों की रोकथाम नैसर्गिक तरीके से बिना औषधि खाए होती है-

रोगप्रतिकारक शक्ति वर्धक हरिद्राशुण्ठी पाक

रोगप्रतिकारक शक्ति वर्धक हरिद्राशुण्ठी पाक


सामग्री-

अदरक की चटनी- 100 ग्राम
हल्दी की चटनी- 100 ग्राम
काली मिर्च-  25 ग्राम
इलायची- 25 ग्राम
गाय का घी- 250 ग्राम
पुराना गुड़- 500 ग्राम 

अदरक और हल्दी की चटनी को गाय के घी में अच्छी तरह भून ले जब घी ऊपर आने लगे तब कद्दूकस किया हुआ गुड डालकर गैस बंद कर दें और अच्छे से चलाएं अब काली मिर्चइलायची का चूर्ण मिलाकर अच्छे से मिक्स कर लें तथा एक थाली में फैला कर बर्फी की तरह टुकड़े काट ले-

लाभ-


1- रोज सुबह शाम इस पाक का एक-एक टुकड़ा खाने से भूख खुलती है, पाचन संस्थान सुधरता है, आंव, मरोड़ , बदहजमी, अरुचि तथा एसिडिटी की शिकायतें दूर होती है कालरा टाइफाइड जैसे रोगों के बाद आई पाचन संस्थान संबंधित कमजोरी दूर होती है यदि यह पाक खाकर ऊपर से गाय का गर्म दूध पिया जाए तो यह पाक उत्तम बलवर्धन का काम करता है-

2- सर्दी, कफ, खांसी, सूखी खांसी, गले का दर्द, छाती में कफ जमना, रात को खांसी चलना, टॉन्सिल, गले में खराश, इन्फेक्शन, बार बार जुकाम होना जैसे रोगों में यह पाक उत्तम औषधि है वायरल बुखार, त्वचा के इंफेक्शन, साइनस, सिरदर्द, माइग्रेन जैसी समस्या में यह पाक उत्तम रामबाण इलाज है-

रोगप्रतिकारक शक्ति वर्धक हरिद्राशुण्ठी पाक

3- सर्दियों में सुबह उठकर जितनी जल्दी हो सके उठकर अगर यह पाक खाकर ऊपर से गर्म दूध पिया जाए तो फेफड़ों को मजबूती मिलती है तथा रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती है सर्दियों में तथा नमी के मौसम में जब फेफड़े संबंधित समस्याएं खासकर बढ़ती है तब यह पाक एक उत्तम उपचार व रोकथाम सिद्ध होता है-


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...

कुल पेज दृश्य

Upchar और प्रयोग

प्रस्तुत वेबसाईट में दी गई जानकारी आपके मार्गदर्शन के लिए है किसी भी नुस्खे को प्रयोग करने से पहले आप को अपने निकटतम डॉक्टर या वैध्य से अवश्य परामर्श लेना चाहिए ...

लोकप्रिय पोस्ट

लेबल