18 अगस्त 2018

फ्रोजन शोल्डर की घरेलू चिकित्सा

loading...

Home Remedies for Frozen Shoulder


फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) गंभीर ना होते हुए भी कष्टसाध्य बीमारी है यह अचानक आती है लेकिन बड़ी ही कठिन परिश्रम से चिकित्सा करवाने के बाद ही जाती है पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यह बीमारी ज्यादा देखने को मिलती है लेकिन महिलाओं में समस्याओं को अनदेखा करने की बुरी आदत भी देखने को मिलती है इस बीमारी को अक्सर महिलाएं छोटा-मोटा कंधे का दर्द समझ कर अनदेखा कर देती है और इस तरह यह रोग शरीर में अपनी जड़ें आसानी से मजबूत कर लेता है ऐसा ना करते हुए जब भी फ्रोजेन शोल्डर के लक्षण दिखाई दे तब तुरंत इसकी चिकित्सा करना हितकर होता है इसमें आधुनिक चिकित्सा में एक्सरे परीक्षण करने के बाद वेदना शामक दवाइयां (PainKillers) सेंक, मरहम वगैरे दिए जाते हैं लेकिन अगर इनसे फर्क ना पड़े तो जोड़ों में स्टीरोइड्स के इंजेक्शन लगाकर जॉइंट को पूरी तरह जकड़न से मुक्त किया जाता है उसके बाद कुछ दिन तक फिजियोथेरेपी एक्सरसाइज करवा कर कंधे की मूवमेंट को नार्मल किया जाता है-

फ्रोजन शोल्डर की घरेलू चिकित्सा

प्राथमिक अवस्था में घरेलू चिकित्सा से भी इस व्याधि का निराकरण हम घर बैठकर कर सकते हैं आज हम आपको ऐसे ही कुछ घरेलू नुस्खे बताएंगे जो आप घर में आसानी से करके फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) जैसी तकलीफ से छुटकारा पा सकेंगे-

फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) के लिए घरेलू नुस्खे-


1- जंगली सूरन को अच्छे से धो कर धूप में सुखाकर उस को पानी के साथ पत्थर पर घिसकर उसका लेप कंधे पर लगाने से फ्रोजनशोल्डर (Frozen Shoulder) में आराम मिलता है-

2- आंक के पत्तों पर तिल का तेल लगाकर उसे गर्म करके उसका सेंक गर्दन, कंधे, बांहें तथा पीठ पर करने से फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) में आराम मिलता है-

3- अरंड के पत्तों (Castor Leaf) पर एरंडी तेल लगाकर इसे तवे पर गर्व करें व गरम-गरम पत्ते कंधों पर अच्छी तरह से कस के सूती कपड़े से बांध ले यह प्रयोग रात को करना है तथा रात भर इसे रहने देना है इस प्रयोग से ठंड में बढ जाने वाली फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) की समस्या में काफी आराम मिलता है-

फ्रोजन शोल्डर की घरेलू चिकित्सा

4- काले तिल (Black Seasme) सौ ग्राम लेकर उसे रात को पानी में भिगोकर रखें सुबह छानकर यह तेल तथा अरंड के पत्तों को पत्थर पर पीसकर चटनी बना ले यह लेप पीठ, गर्दन, हाथ तथा कमर पर लगाएं हो सके तो लेप सूखने तक धूप में बैठे इस प्रयोग से स्नायुओ का दर्द जकड़न, अकड़न, सूजन तथा अंगों में आया कड़ापन दूर होता है व फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) में राहत मिलती है-

5- 200 ग्राम तिल का तेल में 25 ग्राम अजवाइन, 25 ग्राम मेथी, 5 ग्राम हल्दी, 10 तेजपत्ता तथा एक टुकड़ा दालचीनी का डाल कर अच्छे से उबालकर छानकर कांच की शीशी में रख लें रोज सुबह-शाम इस तेल से कंधे की मसाज करने से कंधे के दर्द में आराम मिलता है-

6- 25 आक के पत्र तथा चित्रक की दो डंडियां करीब 50 ग्राम लेकर कूटकर सरसों के तेल में उबाल लें इस तेल को छानकर कांच की शीशी में भरकर रखें इस तेल से कंधे पर मसाज करने से कंधे का दर्द दूर होता है यह एक उत्तम दर्दनाशक तेल है इसे आप जोड़ों के दर्द, साइटिका, कमर दर्द पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं-

7- 100 ग्राम मेथी को दो चम्मच एरंड तेल में अच्छे से भून ले अब इसमें 5 ग्राम हल्दी तथा 5 ग्राम सेंधा नमक डालकर पीसकर पाउडर बना लें यह पाउडर सुबह शाम गर्म पानी से खाने से शरीर में बढ़ा हुआ वात व आमवात दूर होता है तथा जोड़ों के दर्द, फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) पीठ दर्द, कमर दर्द, साइटिका जैसी समस्याओं में बहुत आराम मिलता है-


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...

कुल पेज दृश्य

Upchar और प्रयोग

प्रस्तुत वेबसाईट में दी गई जानकारी आपके मार्गदर्शन के लिए है किसी भी नुस्खे को प्रयोग करने से पहले आप को अपने निकटतम डॉक्टर या वैध्य से अवश्य परामर्श लेना चाहिए ...

लोकप्रिय पोस्ट

लेबल