This Website is all about The Treatment and solutions of General Health Problems and Beauty Tips, Sexual Related Problems and it's solution for Male and Females. Home Treatment, Ayurveda Treatment, Homeopathic Remedies. Ayurveda Treatment Tips, Health, Beauty and Wellness Related Problems and Treatment for Male , Female and Children too.

3 जनवरी 2015

स्वास्थ के लिए खाए पार्सले ......!


यह खट्टा हर्ब कुछ अद्भुत स्वास्थ्यवर्धक गुणों को समेटे हुए है।

* आइये इसके बारे में ज्यादा जानने के लिए आलेख को पूरा पढ़ें....!


* ये  मुख्यतः रेसिपी को सजाने के लिए उपयोग में आने वाला यह हर्ब आपके स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार लाभदायक है।

पार्सले के फायदे:-
<<<<<>>>>>>>

* इसमें #एंटी-कैंसर गुण होते हैं जी हाँ ये सच है कि पार्सले में एंटी-कैंसर गुण होते हैं। इसमें कुछ सक्रिय वाष्पशील तेल होते हैं, जिसमें माइरिस्टीसिन प्रमुख है जो फेफड़ों में ट्यूमर के विकास को रोकता है। यह सक्रिय अवयव ऑक्सीडाइज्ड अणुओं को हटाकर अवरुद्ध शारीरिक नलियों को खोलने का कार्य भी करता है।

* धूम्रपान करने वालों के लिए खुशखबरी ये है कि पार्सले का माइरिस्टीसिन सिगरेट के धुएँ में मौजूद कैंसर पैदा करने वाले बैंजोपायरीन को प्रभावहीन बना देता है, जिससे बड़ी आँत और प्रोस्ट्रेट ग्लैंड के कैंसर के खतरे में उल्लेखनीय रूप से कमी आती है।

* इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण है ..एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण पार्सले रयूमेटॉइड आर्थ्रिटिस तथा ऑस्टियोपोरोसिस के रोगियों के लिए वरदान है। यह #जोड़ों के सूजन व दर्द को कम करता है और इन रोगों के होने की संभावना भी घटाता है।

* ये हड्डियाँ मजबूत करता है #पार्सले में विटामिन के होता है जो ऑस्टियोकैल्शिन के संश्लेषण के लिए आवश्यक है। इसके अतिरिक्त, यह ऊतकों में कैल्शियम का जमाव रोकता है और स्ट्रोक, आर्थ्रोस्क्लेरोसिस तथा रक्तसंचरण प्रणाली की अन्य बीमारियों से बचाता है।

* ये है एंटी-ऑक्सीडेंट का स्रोत  ...पार्सले में बीटा कैरोटीन, विटामिन सी तथा फ्लैवनॉइड जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं। जहाँ विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाता है और एंटी-इंफ्लेमेटरी कार्यप्रणाली को मजबूत करता है, वहीं बीटा कैरोटीन आर्थ्रोस्क्लेरोसिस और हृदय की अन्य समस्याओं का खतरा कम करता है।

* दिल को स्वस्थ रखने वाला हर्ब है .. पार्सले फॉलिक एसिड का अच्छा स्रोत है और दिल तथा रक्तसंचार प्रणाली के सुचारू रूप से कार्य करने के लिए सबसे अधिक अनुशंसित हर्ब्स में से एक है। दिल की बीमारियों और मधुमेह के कारण होने वाली दिल की समस्याओं के रोगियों को पार्सले का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। पार्सले का फॉलिक एसिड गर्भाशय ग्रीवा और बड़ी आँत में सही तरीके से कोशिका विभाजन को प्रोत्साहित कर इनमें होने वाले कैंसर की संभावना घटाता है। इन दोनों स्थानों पर कोशिका विभाजन बहुत तेजी से होता है।

* ये आपको संक्रमणों से बचाता है पार्सले विटामिन ए का भी समृद्ध स्रोत है। इसके कारण यह विटामिन ए की कमी से होने वाली अनेक समस्याओं से बचाता है। पार्सले उत्सर्जन, श्वसन और पाचन तंत्र की आंतरिक झिल्ली की कार्यप्रणाली सही रखता है। प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने तथा बाहरी आक्रामक तत्वों से लड़ने वाली श्वेत रक्त कोशिकाओं को अपना कार्य ठीक तरह से करने के लिए विटामिन ए की बहुत जरूरत होती है।

* पार्सले में मौजूद विटामिन के जरूरी वसा का संश्लेषण कर तंत्रिका झिल्ली को स्वस्थ और मजबूत बनाता तथा तंत्रिका तंत्र की कार्य प्रणाली को बेहतर बनाता है।
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

GET INFORMATION ON YOUR MAIL

Loading...