23 मई 2017

महिलाओं के लिए चूड़ियों का महत्व क्या है

What is Importance of Bangles for Women


आजकल के बदलते दौर में अधिकांश महिलाएं चूड़ियां (Bangles) नहीं पहनती हैं लेकिन चूड़ियों को पहनने के पीछे सुहाग की निशानी के अलावा भी कई अन्य महत्वपूर्ण कारण हैं आज जो महिलाए चूड़ियाँ नहीं पहनती है उन महिलाओं को कमजोरी और शारीरिक शक्ति का अभाव महसूस होता है जल्दी थकान हो जाती है और कम उम्र में ही गंभीर बीमारियां घेर लेती हैं जबकि पुराने समय में महिलाओं के साथ ऐसी समस्याएं नहीं होती थीं-

महिलाओं के लिए चूड़ियों का महत्व क्या है

महिलाओं के लिए चूड़ियों (Bangles) का महत्व-


1- पुराने समय में स्त्रियों का खानपान और नियम संयम भी उनके स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखता था चूड़ियों (Bangles) के कारण स्त्रियों को इस प्रकार की कई समस्याओं से मुक्ति मिल जाती है-

महिलाओं के लिए चूड़ियों का महत्व क्या है

2- शारीरिक रूप से महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक नाजुक होती हैं चूड़ियां पहनने से स्त्रियों को शारीरिक रूप से शक्ति प्राप्त होती है पुराने समय में स्त्रियां सोने या चांदी की चूड़ियां (Bangles) ही पहनती थी सोना और चांदी लगातार शरीर के संपर्क में रहता है जिससे इन धातुओं के गुण शरीर को मिलते रहते हैं-

3- महिलाओं को शक्ति प्रदान करने में सोने-चांदी के आभूषण भी मुख्य भूमिका अदा करते हैं हाथों की हड्डियों को मजबूत बनाने में सोने-चांदी की चूड़ियां श्रेष्ठ काम करती हैं-

4- आयुर्वेद के अनुसार भी सोने-चांदी की भस्म शरीर को बल प्रदान करती है सोने-चांदी के घर्षण से शरीर को इनके शक्तिशाली तत्व प्राप्त होते हैं जिससे महिलाओं को स्वास्थ्य लाभ मिलता है इस कारण अधिक उम्र तक वे स्वस्थ रह सकती हैं लेकिन बदलते फैसन में पढ़ी लिखी युवतियां शायद इस बात को न समझ पाएगीं-

5- चूड़ियों के संबंध में धार्मिक मान्यता यह है कि जो विवाहित महिलाएं चूड़ियां (Bangles) पहनती हैं उनके पति की उम्र लंबी होती है आमतौर पर ये बात सभी लोग जानते हैं इसी वजह से चूड़ियां विवाहित स्त्रियों के लिए अनिवार्य की गई है किसी भी स्त्री का श्रृंगार चूड़ियों के बिना पूर्ण नहीं हो सकता है चूड़ियां स्त्रियों के 16 श्रृंगारों में से एक है-

6- जिस घर में चूड़ियों की आवाज आती रहती हैं वहां के वातावरण में नकारात्मक ऊर्जा नहीं रहती है-चूड़ियों की आवाज भी सकारात्मक वातावरण निर्मित करती है जिस प्रकार मंदिर की घंटी की आवाज वातावरण को सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है ठीक उसी प्रकार चूड़ियों की मधुर ध्वनि भी वही कार्य करती है-

7- जिस घर में महिलाओं की चूड़ियों की आवाज आती रहती है वहां देवी-देवताओं की भी विशेष कृपा बनी रहती है ऐसे घरों में बरकत रहती है और वहां सुख-समृद्धि का वास होता है साथ ही-यह बात भी ध्यान रखने योग्य है कि स्त्री को अपना आचरण भी पूर्णतया धार्मिक रखना चाहिए-केवल चूड़ियां पहनने से ही सकारात्मक फल प्राप्त नहीं हो पाते हैं-



भोजन का संस्कार या तडका क्या है


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है... धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...