Benefits from Blood Donation-ब्लड डोनेशन से लाभ

रक्तदान से लाभ (Benefits from Blood Donation)-


बहुत से लोगों के मन में ये दुविधा रहती है कि ब्लड डोनेट करने से हमारे शरीर में कमजोरी आएगी। जबकि ये बात बस कोई-कोई ही जानता है कि ब्लड डोनेशन (Blood Donation) करने के क्या लाभ है। फिर आप क्यों नहीं सोचते है कि आप स्वयं खुद के लाभ को लेते हुए आप दूसरों की जान बचाने में भी सहभागी बने। ये आपके लिए दुनियां का सबसे बड़ा पुण्य कार्य भी है 


Benefits from Blood Donation-ब्लड डोनेशन से लाभ

रक्तदान के लिए जागरूकता (Awareness for Blood Donation)-


हमारे देश में हर साल 250 सीसी की चार करोड़ यूनिट ब्लड की आवश्यकता पड़ती है और सिर्फ पांच लाख यूनिट ब्लड ही उपलब्ध हो पाता है। फिर आप जरा सोचे कि कितने लोग इस ब्लड से वंचित रह जाते है। आप किसी के जीवन को बचाने में सहभागी बने। क्युकि ब्लड का उत्पादन नहीं किया जा सकता है और न ही इसका कोई विकल्प आज तक है। ब्लड की कमी का एक मात्र कारण हमारे लोगों में जागरूकता का अभाव है। 

हमारे शरीर में कुल वजन का 7% हिस्सा खून होता है। रक्तदान (Blood Donation) सुरक्षित व स्वस्थ परंपरा है। इसमें जितना खून लिया जाता है वह 21 दिन में शरीर फिर से बना लेता है। ब्लड का वॉल्यूम तो शरीर 24 से 72 घंटे में ही पूरा बन जाता है। 

ब्लड डोनेशन (Blood Donation) से हार्ट अटैक की आशंका कम हो जाती है। डॉक्टर्स का मानना है कि डोनेशन से खून पतला होता है। जो कि हृदय के लिए बहुत ही अच्छा होता है तथा एक नई रिसर्च के मुताबिक नियमित ब्लड डोनेट करने से कैंसर व दूसरी बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है। क्योंकि यह शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। 

ब्लड डोनेट करने के बाद बोनमैरो नए रेड सेल्स बनाता है। इससे शरीर को नए ब्लड सेल्स मिलने के अलावा तंदुरुस्ती भी मिलती है। 18 साल से अधिक उम्र के स्त्री-पुरुष जिनका वजन 50 किलोग्राम या अधिक हो एक वर्ष में तीन-चार बार ब्लड डोनेट (Blood Donate) कर सकते हैं। 

ब्लड डोनेट करने योग्य लोगों में से अगर मात्र 3 प्रतिशत भी खून दें तो देश में ब्लड की कमी दूर हो सकती है। ऐसा करने से असमय होने वाली मौतों को रोका जा सकता है। ब्लड डोनेशन (Blood Donation) नहीं करने वाले भी ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करके खुद भी स्वस्थ रहे तथा कई लोगों की जान बचा सके। 

ब्लड डोनेट से पहले जानकारी (Information Before Blood Donat)-


1- ब्लड डोनेट (Blood Donat) करने वाले शख्स को रक्तदान के 24 से 48 घंटे पहले ड्रिंक नहीं करनी चाहिए। ब्लड डोनेशन (Blood Donation) करने से पहले व कुछ घंटे बाद तक धूम्रपान से परहेज करना चाहिए। 

2- ब्लड डोनेट करने से पहले पूछे जाने वाले सभी प्रश्नों के सही व स्पष्ट जवाब देना चाहिए। 

3- ब्लड देने से पहले मिनी ब्लड टेस्ट होता है जिसमें हीमोग्लोबिन टेस्ट, ब्लड प्रेशर व वजन लिया जाता है। ब्लड डोनेट (Blood Donate) करने के बाद इसमें हेपेटाइटिस बी व सी, एचआईवी, सिफलिस व मलेरिया आदि की जांच की जाती है। इन बीमारियों के लक्षण पाए जाने पर डोनर का ब्लड न लेकर उसे तुरंत सूचित किया जाता है। यानी कि हर बार आपका चेकअप भी होता रहता है। 

4- ब्लड डोनेशन (Blood Donation) करने के बाद आप पहले की तरह ही कामकाज कर सकते हैं। इससे शरीर में किसी भी तरह की कमी नहीं होती है।

रक्तदान से स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits from Blood Donation)-


1- रक्तदान (Blood Donation) करने से न केवल किसी व्यक्ति का जीवन बचता है बल्कि रक्तदाता (Blood Donor) के अंदर भी नई कोश‍िकओं का सृजन होता है। 

2- रक्तदान (Blood Donation) आपके कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है और आपके रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है। इससे ज्यादा कैलोरी और वसा को बर्न होता है और आपके पूरे शरीर को फिट रखता है। 

3- रक्तदान (Blood Donation) करने से आपके शरीर का आयरन का स्तर भी नियंत्रित रहता है। रक्त को गाढ़ा बनाता है और उसमें फ्री रेडिकल डैमेज बढ़ता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...