This Website is all about The Treatment and solutions of General Health Problems and Beauty Tips, Sexual Related Problems and it's solution for Male and Females. Home Treatment, Ayurveda Treatment, Homeopathic Remedies. Ayurveda Treatment Tips, Health, Beauty and Wellness Related Problems and Treatment for Male , Female and Children too.

17 मार्च 2018

अपने हाथों से खाना खाने के क्या लाभ होते हैं

Benefits of Eating Food with your Hands


वर्तमान में आजकल हमने पाश्चात्य संस्कृति का अनुसरण करते हुए चम्मच और कांटे से खाना शुरू कर दिया है लेकिन क्या आप जानते हैं कि अपने हाथों से खाना खाने के स्वास्थ्य से संबंधित हमें कई फायदे हैं आज भी दक्षिण भारत में अधिकतर भारतीय अपने हाथों से खाना खाते हैं-

अपने हाथों से खाना खाने के क्या लाभ होते हैं

अपने हाथों से खाना खाने के क्या लाभ होते हैं- 


आइये इस लेख में हम जानेगें कि हमें अपने हाथों से खाना-खाने के क्या-क्या लाभ है और किस तरह ये हमारे स्वास्थ के लिए हितकारी है हाथों से खाना खाने से सबसे बड़ा फायदा यह है कि ये आपके प्राणाधार की एनर्जी को संतुलित रखता है-

1- आयुर्वेद में कहा गया है हमारा शरीर मूल रूप से पंच महाभूतों से मिलकर बना हैं जिन्हें जीवन ऊर्जा भी कहते हैं और ये पाँचों तत्व हमारे हाथ में मौजूद हैं (आपका अंगूठा अग्नि का प्रतीक है और तर्जनी अंगुली हवा की प्रतीक है तथा मध्यमा अंगुली आकाश की प्रतीक है और अनामिका अंगुली पृथ्वी की प्रतीक है और सबसे छोटी अंगुली जल की प्रतीक है) तो हमारे द्वारा ग्रहण किये जाने वाले भोजन में भी यह पंच तत्व मौजूद होते हैं जब हम कांटे और चम्मच की बजाय हाथ से खाना खाते हैं तो एक तरह से पंचतत्व से पंचतत्व का मेल हो जाता है जिसके फलस्वरूप हमारे शरीर में उर्ज़ा अपनी सम्पूर्णता और व्यापकता के साथ प्रवेश करती है इनमे से किसी भी एक तत्व का असंतुलन बीमारी का कारण बन सकता है-

2- आप जब हाथ से खाना खाते हैं तो आप अँगुलियों और अंगूठे को मिलाकर खाना खाते हैं हर मुद्रा के अपने-अपने स्वास्थ्य लाभ होते हैं इसी तरह जब हम खाना खाते समय हाथ के अंगूठे और अंगुलियों को मिलाते है तो उससे ज्ञान मुद्रा बनती है और इस मुद्रा के निर्माण से हमारा भोजन ज़्यादा ऊर्जावान बनता है-इसमें शरीर को निरोग रखने की क्षमता निहित है इसलिए जब हम खाना खाते हैं तो इन सारे तत्वों को एक जुट करते हैं जिससे भोजन ज्यादा ऊर्जा दायक बन जाता है और यह स्वास्थ्य-प्रद बनकर हमारे प्राणाधार की एनर्जी को संतुलित रखता है-

3- जब हम हाथ से खाना खाते है तो कई बैक्टीरिया हमारे शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाते हैं इस तरह से हमारा शरीर इनसे लड़कर अपनी इम्युनिटी को बढ़ाता है आपने अकसर देखा भी होगा कि जो लोग कांटे और चम्मच से खाना खाते हैं मौसम बदलने होने पर अक्सर बीमार पड़ जाते हैं-

4- टच हमारे शरीर का सबसे मजबूत अक्सर इस्तेमाल होने वाला अनुभव है जब हम हाथों से खाना खाते हैं तो हमारा मस्तिष्क हमारे पेट को यह संकेत देता है कि हम खाना खाने वाले हैं और इससे हमारा पेट इस भोजन को पचाने के लिए तैयार हो जाता है जिससे पाचन क्रिया सुधरती है इससे खाने पे दिमाग लगता है तथा हाथ से खाना खाने में आपको खाने पर ध्यान देना पड़ता है इसमें आपको खाने को देखना पड़ता है और जो आपके मुह में जा रहा है उस पर ध्यान केंद्रित करना पड़ता है तो इसे हम माइंडफुल ईटिंग भी कहते है और यह मशीन कि भांति चम्मच और कांटे से खाना खाने से ज्यादा स्वास्थयप्रद है-

5- माइंडफुल ईटिंग के कई फायदे भी हैं इनमे से सबसे महत्वपूर्ण फायदा यह है कि इससे खाने के पोषक तत्व बढ़ जाते हैं जिससे पाचन क्रिया सुधरती है और यह आपको स्वस्थ रखता है-

6- यह आपके मुंह को जलने से बचाता है तथा आपके हाथ एक अच्छे तापमान संवेदक का काम भी करते हैं जब आप भोजन को छूते हैं तो आपको अंदाजा लग जाता है कि यह कितना गर्म है और यदि यह ज्यादा गर्म होता है तो आप इसे मुंह में नहीं लेते हैं इस प्रकार यह आपकी जीभ को जलने से बचाता है-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

GET INFORMATION ON YOUR MAIL

Loading...