Domestic Useful Information of Tea Leaves-चाय पत्ती की घरेलू उपयोगी जानकारी

चाय पत्तियों की जानकारी (Information of Tea Leaves)-


किसी से मुलाक़ात के दौरान चाय (Tea) की चुस्की लेना एक आम सी बात हो गई है। अगर आपको किसी से मिलने जाने पर यदि चाय के लिए नहीं पूछा गया है तो कुछ अधूरा सा लगने लगता है। यानि कि हमारे देश में चाय पीना अब एक आदत में शुमार सा हो गया है। अस्सी प्रतिशत से जादा जनसँख्या सुबह उठने के साथ Tea पीना पसंद करती है।  अब तो ये कल्चर गाँवों में भी अमूमन हो चली है मगर आप की नजरों में ये आदत आपको भले ही पसंद हो लेकिन वास्तविकता तो ये है कि चाय नुकसान दायक ही है। परन्तु चाय की पत्तियों (Tea Leaves) के कुछ घरेलू उपयोग है इनके बारे में आपसे कुछ चर्चा करते है..


Domestic Useful Information of Tea Leaves-चाय पत्ती की घरेलू उपयोगी जानकारी

चाय पत्तियों के फायदे (Benefits of Tea Leaves)-


खाली पेट चाय (Tea) पीना एक बहुत बुरी आदत है। खासतौर पर गर्मियों में चाय पीना तो और भी नुकसान दायक है। चाय में कुछ मात्रा में Caffeine होती है और साथ ही इसमें एल-थायनिन, थियोफाइलिन भी होता है। जो सिर्फ उत्तेजित करने का काम करते हैं। लेकिन चाय की पत्तियों (Tea Leaves) के कुछ घरेलू उपयोग भी है। रोजाना चाय पीने वाले लोग चाय के दूसरे अन्य फायदों और इस्तेमाल से शायद अनजान होते हैं। आइये जानते है इसके कुछ घरेलू उपयोग क्या हैं। 

चाय की पत्तियों के घरेलू उपयोग (Domestic use of Tea Leaves)-


1- गीली चाय की पत्तियों में थोड़ा-सा चूना मिलाकर दर्पण या शीशों पर मलकर कुछ देर बाद सूखे कपड़े से साफ करने पर मिरर में चमक आ जाती है। 

2- उबली हुई चाय की पत्तियों (Tea leaves) को लकड़ी के फर्नीचर पर रगड़ने पर फर्नीचर का मैल छूट जाता है। 

3- यदि आपकी रसोई में मक्खी-मच्छर हो जायें तो चाय बनाने के उपरान्त चाय की पत्ती (Tea leaves) को अँगीठी में डालकर रसोई में धुआँ कर दीजिए। 

4- चाय की पत्तियों को एकाध घण्टे तक पानी में उबालकर शीशी में बन्द करके रख लीजिए। वार्निश वाला फर्नीचर, दरवाजे आदि साफ करने के लिए ये चाय का घोल अच्छा काम करेगा। 

5- चाय की बची हुई पत्तियों में से एक चुटकी बर्तन धोने का पाउडर मिलाकर बर्तनों पर रगड़ने से साफ हो जाते हैं। 

6- आपके घर में गुलाब का पौधा लगा है तो शक्कर रहित चाय की पत्तियाँ (Tea leaves) गुलाब के पौधे के लिए एक अच्छी खाद है। चाय की पत्ती में पाया जाना वाला टैनिक एसिड गुलाब के रंग को और सुंदर कर देता है। आप इस्तेमाल किए गए टी-बैग को फाड़ें और गुलाब की जड़ के चारों ओर बिखेर दें। यह पेड़ की जड़ों से मिलकर फूलों को काफी सुंदर बना देती है। 

7- बरसात में माचिस बाक्स को चाय पत्ती के डिब्बे में रखने से उसमें सीलन नहीं आती है। 

8- अगर आपकी आंखें थोड़ी सूजी हुई हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। बस इस्तेमाल किए हुए दो टी बैग आपकी समस्या हल कर सकते हैं। स्ट्रेसएलर्जी, ज्यादा शराब पीने या हार्मोनल चेंज की वजह से आंखों में सूजन हो सकती है। लेकिन चाय में मौजूद कैफीन, सूजी हुई खून की नसों को स्किन में दबा देगी और आपकी आंखें पूरी तरह ठीक हो जाएंगी। इस्तेमाल किए हुए दो टी-बैग लें और आंखें बंद करके उनके ऊपर रख लें। 10 मिनट तक रखने के बाद उन्हें हटाएं-अब आपकी आंखे फ्रेश होंगी।

9- जब आपको काफी ज्यादा वक्त तक धूप में रहना हो और आप इससे बच नही सकते हों तो चेहरे पर सनबर्न के मार्क आना लाजि‍मी है। ऐसे में ठंडे टी-बैग लें और जिस जगह पर स्किन प्रभावित हुई है वहां 10 मिनट तक रखें।  आपको इसका तुरंत असर दिखेगा। 

10- अगर दिनभर काम करने के बाद आपके पैरों से थोड़ी गंध आने लगती है या स्किन में कुछ समस्या होती है तो फिक्र करने की जरूरत नहीं है। आप घर में ही इस समस्या से निपट सकते हैं। गुनगुने पानी में टी-बैग डालें और हल्का ठंडा होने पर पैरों को उसमें भिगोएं। इससे पसीने की बदबू तो जाएगी ही और आपके पैर कोमल भी होंगे। 

11- चेहरे पर दाग-धब्बों और मुहासों से परेशान लोगों के लिए ग्रीन टी एक अच्छा विकल्प हो सकती है। यह स्किन में मौजूद बेंजॉइल प्रॉक्साइड को रोकती है। जिससे चेहरे पर स्पॉट नहीं आते हैं। 

12- अगर आप बालों में अच्छी शाइन चाहते हैं तो ग्रीन टी का इस्तेमाल करें। हालांकि यह उसी पेड़ से बनती है जिससे काली चाय आती है। लेकिन इसे बनाने का तरीका कुछ अलग होता है। ग्रीन टी को ऑक्सीडाइज नहीं किया जाता है। जिसके चलते इसकी पत्तियों में इलेक्ट्रॉन की संख्या ज्यादा होती है और ये इलेक्ट्रॉन आपके बालों को शाइन देते हैं। इस प्रयोग के लिए आप ग्रीन टी के तीन बैग एक जग उबले पानी में डालें और ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर टी बैग निकालें और उस पानी से बालों को धोएं। 10 मिनट बाद बालों में कंडिशनर लगाएं। अब बालों की चमक देखते ही बनेगी। आप बालों को डार्क भी कर सकते हैं बस आपको ग्रीन की बजाय ब्लैक टी का इस्तेमाल करना होगा। 

Click Here for All Posts of Upachaar Aur Prayog

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...