Fenugreek is Very Beneficial for You-मेथी आपके लिए बहुत ही लाभदायक है

मेथी क्या है (What is Fenugreek)-


मेथी हर घर के किचन में पाया जाता है। आप सभी इसे जानते ही होंगें लेकिन क्या आप इसके गुणों से अवगत है ? मेथी (Fenugreek) बहुत गुणकारी है जो आपकी सेहत के लिहाज से भी बहुत ही गुणकारी है। ये आपके किचन के वही पीले रंग के दाने है जो अचार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होते है। इसी के कारण अचार में खुशबू और स्वाद का आपको एक अनोखा आनंद मिलता है। अचार के अलावा मेथी दाना दाल, कढ़ी, सब्जी आदि के तड़के मे भी स्वाद और महक के लिए भी डाला जाता है। 


Fenugreek is Very Beneficial for You-मेथी आपके लिए बहुत ही लाभदायक है

मेथी के पोषण तत्व (Nutrients of Fenugreek)-


मेथी दाना आपके लिए कई प्रकार के विटामिन और जरुरी पोषक तत्वों का बहुत अच्छा स्रोत है। इसमें  विटामिन B 6विटामिन Aविटामिन Cफोलिक एसिडथायमिनराइबोफ्लेविन तथा नियासिन आदि शामिल है। मेथी दाना में प्रोटीनकार्बोहाइड्रेट तथा कई प्रकार के खनिजजैसे आयरनकैल्शियमपोटेशियममैग्नेशियमकॉपरमैगनीज तथा ज़िंक आदि भी होते है। 

मेथी (Fenugreek) में कई प्रकार के फायदेमंद फीटो न्यूट्रिएंट्स भी होते है। फीटो न्यूट्रिएंट्स पेड़ पौधों में पाए जाने वाले वे तत्व है। जो पौधों को तो बीमारी, फंगस आदि से बचाते ही है लेकिन ये हमारे लिए भी बहुत लाभदायक होते है।

मेथी दाना में मौजूद फायबर तथा सेपोनिन इसे आश्चर्यजनक औषधि बनाते है। इसमें म्यूसिलेज नाम का एक चिपचिपा तत्व होता है जो मेथी को पानी में भिगोने पर यह तत्व फैलकर मल्हम जैसे जैल में परिवर्तित हो जाता है फिर यह जैल शरीर के तंतुओं की मरम्मत कर उन्हें मजबूत बनाने का काम करता है। इसमें डाइसोजेनिन भी होता है जो ऑस्ट्रियोजेन जैसे गुणों से भरपूर होता है। मेथी (Fenugreek) में कई स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक गुण होते है जो कई शारीरिक समस्‍याओं को दूर भगा देते है। 

मेथी से होने वाले लाभ (Benefits from Fenugreek)-


1- मेथी (Fenugreek) में कोलेस्ट्रॉल को कम करने का विशेष गुण होता है। इससे हानिकारक LDL  कोलेस्ट्रॉल कम होता  है। यही वह कोलेस्ट्रॉल है जो रक्त वाहिकाओं में जमा होकर हार्ट अटैक पैदा कर सकता है। मेथी में मौजूद फायबर गेलेक्टोमेनन के कारण भी रक्त में कोलस्ट्रोल की मात्रा कम करने में मदद मिलती है तथा इसके नियमित उपयोग से रक्त में क्लोट बनने की सम्भावना कम हो जाती है। इस प्रकार मेथी के सेवन से ह्रदय रोग से बचाव हो सकता है। मेथी की सब्जी इस परेशानी में लाभ देती है। 

2- मेथी आपकी डायबिटीज को कंट्रोल में रखने में आपकी मदद करती है। इससे पेशाब में शक्कर की मात्रा कम हो जाती है तथा इसके प्राकृतिक फायबर के कारण तथा इन्सुलिन पर मेथी (Fenugreek) दाना के उपयोग से पड़ने वाले प्रभाव से डायबिटीज में यह बहुत लाभदायक सिद्ध होती है। यह इन्सुलिन के बनने तथा इसके रक्त में प्रवाहित होने की गति दोनों पर अच्छा प्रभाव डालती है। इससे ब्लड शुगर बहुत ऊपर नीचे होना बंद होता है बस रोजाना तीन चार चम्मच मेथी के उपयोग से अच्छे परिणाम आ सकते है। लेकिन इसके गर्म प्रभाव से बचने के लिए मेथी दाना मोटा पिसा हुआ दो चम्मच और सौंफ एक चम्मच रात को एक गिलास पानी में भिगो दें तथा सुबह छान कर यह पानी पिएँ। 

3- मेथी के दाने बालों की जड़ों को मजबूत करते हैं और उसे पुनर्जीवित भी करते हैं। इसमें प्रोटीन होता है इसलिए मेथी दानों को अपनी डाइट में शामिल करने से आपके बाल खूबसूरत बनेंगे। 

4- मेथी के दानों में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए खाली पेट मेथी दानों को चबाने से आपकी एक्सट्रा कैलरी बर्न होती है। जिन लोगों के पेट या कमर पर जादा चर्बी बढ़ गई हो इसका प्रयोग करके लाभ ले सकते है। 

5- यदि आपको मोटापे की शिकायत है तो सुबह दो गिलास मेथी का पानी पीने से मोटापा दूर होता है। मेथी का पानी बनाने के लिए आप एक बड़ा चम्मच मेथी के दानों को दो गिलास पानी में रातभर भिगो दें और सुबह इसे छानकर पी लें। मेथी (Fenugreek) के सेवन से किडनी भी स्वस्थ होती है।

6- पथरी के इलाज में भी मेथी फायदा करती है। इस जादुई औषधि से पथरी पेशाब के साथ शरीर से बाहर निकल जाती है तथा मेंथी के दानों के सेवन से पेट दर्द और जलन भी दूर होती है। इसके साथ ही पाचन क्रिया भी दुरुस्त होती है। 

7- मेथी से कई प्रकार से आपके पाचन तंत्र को फायदा पहुंचता है। इससे पेट और आँतों की जलन सूजन आदि में आराम मिलता है। यह पेट और आँतों के अल्सर में आराम दिलाती है तथा इसके पानी में घुलनशील फायबर आँतों की सफाई करके कब्ज मिटाते है तथा आँतों की शक्ति बढ़ाते है। इससे भूख खुल कर लगने लगती है। खाने में अरुचि हो जाने पर इससे रुचि जाग्रत हो जाती है मेथी मेटाबोलिज्म को भी सुधारती है जिसके कारण कमजोरी दूर होती है। 

8- मेथी दाने में फॉस्फेटलेसिथिन और न्यूक्लिओ अलब्यूमिन होने से यह पोषक होती है। इसमें फोलिक एसिडमैग्नीशियमसोडियम, जिंककॉपर आदि भी मिलते हैं जो शरीर के लिए बेहद जरूरी हैं। पेट ठीक रहे तो स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और खूबसूरती भी बनी रहती है। मेथी पेट के लिए काफी अच्छी होती है। 

9- हाई बी पी, डायबिटीज, अपच आदि बीमारियों में मेथी के बीज का उपयोग लाभकारी होता है। मेथी की सब्जी में अदरक, गर्म मसाला रखकर खाने से निम्न रक्तचाप और कब्ज में फायदा होता है। सुबह-शाम मेथी का रस पीने से डायबिटीज में लाभ होता है। हरी मेथी भी रक्त में शक्कर की मात्रा कम कर देती हैं। इस कारण डायबिटीज रोगियों के लिए भी यह फायदेमंद होती है। हरी मेथी के प्रयोग से आप डायबिटीज से दूर रहेंगे। 

10- मेथी दाना की सब्जी खाने से अविकसित और छोटे स्तन बड़े और पुष्ट हो जाते है तथा साथ ही मेथी दाना को पानी के साथ बारीक पीसकर स्तन की हल्के हाथ से नियमित मालिश भी करनी चाहिए। इन दोनों के करने से स्तन के आकार में भी वृद्धि होती है। यदि स्तन में दूध सुखाना हो या स्तन में सूजन और दर्द हो तो मेथी की हरी पत्तियां पीस कर स्तन पर लगा कर दो घंटे बाद धो लें। इससे आराम मिल जाता है। 

11- यह वात के कारण जॉइंट्स में होने वाले दर्द से तथा गठिया रोग से मुक्ति दिला सकती है। एक चम्मच पिसा हुआ मेथी दाना सुबह खाली  पेट गर्म पानी के साथ नियमित लेने से जॉइंट पैन में बहुत आराम आता है तथा मेथी के लडडू खाने से भी जोड़ों का दर्द नहीं सताता है और टूटी हुई हड्डी इसके उपयोग से जल्दी जुड़ती है। 

12- मेथी सेक्स पावर को भी बढ़ाने में सक्षम है। मेथी के इस्तेमाल से लोगों की सेक्स क्षमता में एक चौथाई का इजाफा होता पाया गया है। इंडियन करी में मेथी डाली जाती है यह सीधे आदमियों के सेक्स हार्मोन्स को बढ़ाने का काम करती है यानि दूसरे अर्थों मे मेथी के सेवन से सेक्स पावर बढती है। इसलिए मेथी का सेवन आपकी यौन क्षमता में अतिशय वृद्धि करता है। 

13- पुरुषों में होने वाली लिंग उत्थान की समस्या भी इससे हल हो सकती है। इसके अलावा यह टेस्टोस्टेरोन हार्मोन में इजाफा करके अन्य समस्या को भी ठीक करने में मदद करती है। रात को सोते समय आधा चम्मच पिसा हुआ मेथी दाना तथा आधा चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर गर्म दूध के साथ नियमित एक महीने लेने से पुरुषों में यौन शक्ति में बढ़ोतरी होती है। 

14- बालों के लिए मेथी कंडीशनर का काम करती है इससे रुसी में भी आराम मिलता है तथा बालों का गिरना कम हो जाता है। मेथी दाना पाउडर को पानी में एक घंटे भिगोकर, बालों की जड़ों में लगा लें और आधा घंटे बाद धो लें। इससे बालों को ये सारे लाभ मिल जाते है या आप मेथी दाना नारियल के तेल में उबालकर छान कर रख लें। इस तेल की नियमित मालिश करने से बाल घने और मुलायम होते है। कई महिलाओं पे मेरा आजमाया प्रयोग है लेकिन कम से कम तीन माह बाद इसका असर दीखता है। 

15- मेथी में पाया जाने वाला म्यूसिलेज नामक तत्व गले की खराश और कफ आदि में आराम दिलाता है। दो कप पानी में दो चम्मच दाना मेथी डालकर उबाल लें तथा इसे छानकर इसमें दो चम्मच शहद मिलाकर पियें। इससे गले की खराश, जुकाम, कफ आदि में आराम मिलता है। मेथी उबाल कर छाने हुए पानी से कुल्ला करने से मुँह की दुर्गन्ध भी मिटती है

16- मेथी में कैंसर को मिटाने के गुण होते है। मेथी में पाया जाने वाला डिओसजेनिन नामक तत्व आँतों के कैंसर से बचाव करने में सक्षम होता है। इसके अलावा इसमें पाए जाने वाले सैपोनिन, म्यूसिलेज, पेक्टिन आदि तत्व आँतों के म्युकस मेंब्रेन की रक्षा करते है। इस तरह आंतों पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव से मुक्ति दिलाकर यह कैंसर होने से बचाती है। इसमें पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट्स के कारण फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से भी बचाव संभव है 

17- मेथी दाना अंकुरित करके खाया जा सकता है या फिर मेथी दाना की किशमिश के साथ सब्जी बनाकर खाई जा सकती है। वैसे आप इसे साबुत ही पानी के साथ फांक सकते है या फिर मेथी दाने को मोटा पीसकर पावडर बनाकर बुरा चीनी मिलाकर फंकी ले सकते है और सर्दी के मौसम में मेथी के लडडू बनाकर भी खाये जा सकते है। मेथी को अंकुरित करने लिए करने के लिए चार चम्मच मेथी दाना धोकर आधा गिलास पानी में  6 -7  घंटे के लिए भिगो दें।  इसके बाद छान कर कपड़े में बांध कर अंकुरित करके खाएं तथा इसका बचा हुआ पानी भी पी लेना चाहिए। 

हरी मेथी के गुण (Properties of Green Fenugreek)-


मेथी के पत्ते या हरी मेथी के गुण भी लगभग मेथी दाना जैसे ही होते है। हरी मेथी की पालक या आलू के साथ स्वादिष्ट सब्जी बनती है। हरी मेथी के सेवन से फास्फोरस मिलता है। जिससे दांत मजबूत होते है। इससे मिलने वाले आयरन से खून की कमी दूर होती है तथा हरी मेथी खाने से माहवारी की समस्या दूर हो सकती है। यह ख़ूबसूरती में निखार लाती है और वजम कम करने में सहायक है तथा शरीर में ऊर्जा बनाये रखती है। 

मेथी के प्रयोग में सावधानी (Caution in use of Fenugreek)-


ध्यान रहे कि मेथी की तासीर गर्म है। इसलिए वैध्य या डॉक्टर की सलाह से इसका प्रयोग मात्रा अनुसार ही करें। क्यूंकि मेथी दाना रक्त स्राव बढ़ा सकती है। जिन लोगों के शरीर से किसी भी प्रकार से रक्त निकलता हो जैसे बवासीर के कारणनकसीर के कारणपेशाब में रक्त जाता होमाहवारी के समय अधिक मात्रा में या अधिक दिन तक रक्त स्राव होता हो तो उन्हें मेथी का उपयोग बड़ी सावधानी से या वैध्य की सलाह से लेना चाहिए। तेज गर्मी में भी मेथी का उपयोग कम ही करना चाहिए। सर्दी के मौसम में इसका उपयोग अधिक लाभदायक सिद्ध होता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...