17 अगस्त 2017

स्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का इलाज

Treatment of Erectile Dysfunction

आज हम आपसे स्तंभन दोष यानि इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (Erectile dysfunction) के एक केस की चर्चा करते है मयूरेश जी बैंक में जॉब करते है और मयूरेश पाटिल की उम्र 35 साल है तथा चार साल पहले ही उनकी शादी हुई है दो साल से मयूरेश इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के शिकार हो गए थे-

स्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का इलाज

मयूरेश पाटिल जी ने कितने ही इलाज करवाए पर असर नहि हो रहा था आयुर्वेदिक नुस्खे ओर झोलाछाप डॉक्टर्स के चक्कर मे भी आ चुके थे और अब हर तरह से निराश हो चुके थे जब उनके रिश्तेदार के माध्यम से वो मेरे सम्पर्क में आए तब काफी उदास और ना उम्मीद से हो चुके थे-

पेनिज में इरेक्शन ना होना, लिंग पतला होना ,लिबिडो याने सेक्स की इच्छा में कमी भूख ना लगना तथा शारीरिक ओर कमजोरी भी लग रही थी मानसिक लक्षणों में उनको लगता कि वो अब पूर्ण नपुंसक हो गए है और कभी बच्चे पैदा नही हो सकते हैं उनको ये हीन भावना भी आ गई थी तथा साथ मे उनको लगता कि उन्होंने अपनी पत्नी से अन्याय किया और कही उनका तलाक ना हो जाए-इन सब बातों की वजह से उनको नींद भी नही आती थी और बार बार आत्महत्या के विचार आते थे-

उनके शारीरिक और मानसिक लक्षणों से मैने उन्हें दो तरह के बेचफ्लॉवर कॉम्बिनेशन दिए साथ मे मसाज ऑइल भी दिया ताकि पेनिज में स्ट्रेंथ आए और वहां की नसें मजबूत बने साथ मे कुछ टेक्निक्स (जो पिछले लेख में बताई जा चुकी हैबताई जा चुकी है-

दो महीनों में ही मयूरेश जी को वांछित लाभ मिल गया फिर उनको एक कॉम्बिनेशन उनके आग्रह पर शारीरिक टॉनिक हेतू दिया गया-

बैच फ्लावर चिकित्सा में इस प्रकार के रोगों का निदान बिना किसी साइड इफेक्ट के है और ये सबसे उत्तम चिकित्सा है- 

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

1 टिप्पणी:

Information on Mail

Loading...