26 सितंबर 2017

गेहूं की चाय से सूखी और बलगमी खांसी में लाभ

Benefits in Dry Mucus Cough From Wheat Tea


गेहूं (Wheat) में आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्पोरस, कापर आदि अनेक तत्व पाए जाते हैं अब ये आप सोचिये कि आपको गेंहू के आटे की रोटी बनानी है या दलिया बनाना है या गेंहू की चाय पीनी है गेहूं की चाय से सूखी और बलगमी खांसी में बहुत तेज आराम मिलता है-

गेहूं की चाय से सूखी और बलगमी खांसी में लाभ

अगर आपको गेहूं की चाय पीनी है तो फिर गेहूँ की चाय बनाने के दो तरीके हैं-

गेहूं (Wheat) की चाय बनाने का पहला तरीका- 


20 ग्राम दलिया  को 200 ग्राम पानी में धीमी आंच पर चढ़ा दीजिये और जब पानी 50 ग्राम बचे तब उसे उतार कर छान लीजिये और फिर उसमे एक चम्मच शहद और एक ही चम्मच दूध मिला कर पीजिये ये बड़ी टेस्टी और पौष्टिक चाय बनती है-

गेहूं (Wheat) की चाय बनाने का दूसरा तरीका-


गेहूं को तवे पर धीमी आंच पर भूनिए और फिर इन्हें दरदरा पीस लीजिये तथा अब चायपत्ती के स्थान पर इसी को प्रयोग करके चाय बना लीजिये-

लाभ- 


यह चाय पीने से आँखों की ज्योति बढ़ जाती है सूखी और बलगमी खांसी में तो बहुत तेज आराम मिलता है तथा दिमाग भी मजबूत होता है-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...