14 जून 2018

तरबूज के अनुभूत औषधीय प्रयोग


तरबूज (Watermelon) एक स्वादिष्ट व सुगंधित फल है कुदरत का करिश्मा ही है कि इस का गुदा बीज तथा छिलके औषधीय गुणों से भरपूर है इसकी मीठी सुगंध मन को ताजगी देने वाली, थकान दूर करने वाली, आल्हाद्क तथा दिमाग के नसों को ठंडक देने वाली होती है इसलिए आजकल परफ्यूम कोस्मेटिकस, साबुन तथा एरोमा थेरापी में इसकी सुगंध तथा तेल के उपयोग का प्रचलन काफी बढा है-

तरबूज के अनुभूत औषधीय प्रयोग

तरबूज में 3.3 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन ए, थायमिन, राइबोफ्लोविन एवं एस्कॉर्बिक अम्ल आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं तरबूज के रस के सेवन से तृषा शांत होती है डिहाइड्रेशन कम होता है ह्रदय को बल मिलता है तथा शरीर को योग्य पोषण मिलता है-

तरबूज से होने वाले लाभ-


1- इसका रस स्फूर्ति देने वाला होता है.जिन्हें गर्मी के कारण सिर में दर्द होता है उनके लिए तरबूज के रस का सेवन अत्यंत लाभदायक है यदि बहुत अधिक काम करने से आप थकान महसूस कर रहे हैं तो आप तरबूज के रस का सेवन कर सकते हैं-इसके रस के सेवन से आपकी थकान दूर हो जाएगी-

तरबूज के अनुभूत औषधीय प्रयोग

2- तरबूज के रस का सेवन करने से हमारा खून साफ होता है और हमारे शरीर का खून भी बढता है-रक्ताल्पता में तरबूज का रस अत्यंत लाभदायी है जिन लोगों को लू लगने का डर होता है उन्हें तरबूज का रस पीना चाहिए इसे पीने से लू लगने का डर नही होता है-

3- तरबूज के बीजों में आयरन, पोटेशियम, विटामिन तथा तेल होता है तरबूज के बीज पाचन क्रिया में मददगार है इसमें पाया जाने वाला मैग्नीशियम मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है तथा वजन कम करने में मदद करता है-

4- तरबूज के बीजों को अच्छे से धो कर सुखा कर नमक के पानी में डुबोकर सुखाकर फिर उसे भून ले भोजन के बाद एक-एक चम्मच यह बीज चबा-चबा कर खाने से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है-

5- एक चम्मच तरबूज के बीज तथा एक चम्मच धनिया बीज को एक कप पानी में उबालकर पीने से पथरी अल्प मूत्र, कष्टमूत्र जैसी समस्याओं में लाभ मिलता है-

6- त्वचा की खुजली में तरबूज के बीज को पीसकर एक चम्मच नारियल तेल में मिलाकर लगाने से खुजली में लाभ होता है तथा त्वचा मुलायम बनती है और चकत्ते भी हटते हैं-

7- तरबूज के छिलके भी अत्यंत पौष्टिक तथा औषधि गुणों से भरपूर है बढे हुए पित्त को कम करने तथा गर्मी की वजह से उत्पन्न तकलीफों में यह बेहद लाभदाई है-

8- तरबूज के छिलकों को अच्छे से धोकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर जीरा तथा गाय के घी का छौक लगाकर काली मिर्च डालकर सब्जी बना ले यह सब्जी हृदय रोग में बेहद लाभदायी है यह सब्जी नियमित सेवन करने से हृदय संबंधित बीमारियों से बचाव होता है साथ में हाई बीपी की समस्या में भी राहत मिलती है-

9- तरबूज के छिलकों को उबालकर इसका सूप पीने से किडनी संबंधित परेशानियां तथा लिवर का कम कार्यरत होना जैसी समस्याओं में लाभ मिलता है..

10- तरबूज के छिलके को सुखाकर जलाकर इसकी राख बना ले इस राख में शहद मिलाकर चेहरे पर इसका लेप करने से चेहरे के दाग धब्बे मिटते हैं तथा चेहरे की त्वचा में निखार आता है-

11- तरबूज के छिलकों को कद्दूकस करके सर पर लगाने से मस्तिष्क शांत होता है सर की गर्मी कम होती है आंखों की जलन, सर दर्द जैसी समस्याओं में राहत मिलती है-

12- तरबूज के छिलकों को सुखाकर इसके चूर्ण में पानी मिलाकर पैरों के तलवे पर लेप करने से पैरों की तलवों की जलन व दाह हो दूर होता है-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...