1 जुलाई 2018

नेत्र ज्योति वर्धक अनुभूत आमलकी रसायन योग

Enhance Eyesight with Amalki Rasayan Churna


आजकल छोटे-छोटे बच्चों की भी नेत्र ज्योति या दृष्टि (Eyesight) कमजोर पड़ने लगी हैं छोटी उम्र में ही उन्हें चश्मे लगाने की आवश्यकता पड़ने लगी है तथा चश्मे लगाने के बाद भी उनका नंबर बढ़ते ही जाता है व साल-दर-साल दृष्टि कमजोर होती रहती है ऐसी परिस्थिति में कोई भी दवा कारगर या लाभ देती मालूम नहीं पड़ती-

नेत्र ज्योति वर्धक अनुभूत आमलकी रसायन योग

लेकिन आज हम आपको बच्चों के लिए नेत्र ज्योतिवर्धक अनुभूत योग बताएंगे जो बनाने में तथा प्रयोग करने में बेहद आसान है इस योग से नेत्र रक्षा होती है तथा आंखों की दृष्टि (Eyesight) तेज होती है नंबर बढ़ते नहीं है तथा अगर लंबे समय तक योग्य तरीके से इसका उपयोग किया जाए तो बढे हुए नंबर अवश्य ही कम होते हैं तथा नेत्र ज्योति बढती हैं-

इतना ही नहीं यह योग लीवर, पेट तथा मूत्राशय के रोगों में भी बेहद लाभदायक है बच्चों के लिए जहां यह नेत्र ज्योतिवर्धक, मेधावर्धक, स्मृतिवर्धक तथा ऊर्जावर्धक है वही बड़ों के लिए यह बुढ़ापे को दूर करने वाला सौंदर्य बढ़ाने वाला तथा वीर्य बढ़ाने वाला असरकारक योग है स्त्रियों में यह योग गर्भाशय को मजबूती देने वाला व मासिक धर्म संबंधित समस्याओं को दूर करने वाला योग है वही पुरुषों के लिए वीर्यवर्धक, कामवर्धक तथा वजन बढ़ाने में कारगर योग हैं वृद्धों के लिए यह नवचैतन्य देने वाला बल देने वाला तथा वृधावस्था को दूर करने वाला कारगर रसायन योग है-

नेत्र ज्योति वर्धक अनुभूत आमलकी रसायन योग

इस योग का नाम आमलकी रसायन योग (Amalki Rasayan) है जिसका उल्लेख गदनिग्रह नामक प्राचीन ग्रंथ में किया गया हैं इस लेख में हम आपको आमलकी रसायन बनाने की विधि तथा उसके गुण, लाभ व विविध उपयोग के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे-

आमलकी रसायन बनाने की विधि-


आंवला की ऋतु में अच्छे बड़े, ताजे व बिना रेशे के आंवले जिसे बनारसी आंवले भी कहते हैं व लाए तथा आवला को धोकर साफ करके गुठलीया निकालकर उसको मिक्सर में कूटकर लुगदी बनाकर बड़ी-बड़ी थालियों में फैला कर धूप में रखें तथा सूख जाने पर उसको कूटकर बारीक चूर्ण बना लें अब इस चूर्ण को आंवला के स्वरस में भिगोकर लुगदी बना ले व फिर से धूप में सुखा ले-

शास्त्रों में यह क्रिया 21 से लेकर 100 बार करने को कही गयी हैं महर्षियों के मतानुसार आवले के चूर्ण को जितनी ज्यादा भावनाए दी गई हो उतना ही उसका रसायन गुण बढ़ता हैं इस तरह आप अपनी सुविधा व आवश्यकता अनुसार भावनाए दे सकते हैं लेकिन कम से कम 21 भावनाए ज़रूरी हैं इसी चूर्ण को आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) या धात्री रसायन चूर्ण कहते हैं-

गुण –


शास्त्रों के मत अनुसार आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण दीपन, पाचन, पित्तशामक, रोचक, बल्य, कांति वर्धक, चर्मरोग नाशक, वाजीकर, स्तम्भक तथा त्रिदोष संतुलन करने वाले गुणों से भरपूर हैं-


किसी भी उम्र का व्यक्ति किसी भी ऋतु में बिना संकोच आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण का सेवन कर सकता है आमलकी रसायन चूर्ण के नियमित सेवन से शरीर के तीनों दोष संतुलित होते हैं तथा आयुष्य व आरोग्य में बढ़ोतरी होती है इस चूर्ण के व्यस्थापन गुण की वजह से व्यक्ति सदा युवा रहता है नेत्र ज्योति, पाचन शक्ति, स्फूर्ति, उत्साह, हृदय बल, शारीरिक बल, कामशक्ति (Libido) तथा मानसिक बल या मनोबल (will power) भी बढ़ता हैं इसिलए इस चूर्ण को रसायन कहा गया हैं-

आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण के नियमित सेवन से आंखों की गर्मी दूर होती है आंखों का तेज बढ़ता है, आंखों से पानी निकलना, आँखों की थकान या कमजोर द्रष्टि जैसी समस्याए मिटती हैं –

जिन छोटे बच्चों को आँखों की कमजोरी के चलते छोटी उम्र में ही चश्मा लग जाता हैं उन बच्चों के लिए आमलकी रसायन चूर्ण का प्रयोग वरदान सामान हैं रोज सुबह एक से डेढ़ ग्राम आमलकी रसायन चूर्ण में एक चमच शहद डालकर सेवन करने से बच्चो की नेत्र ज्योति तेज होने लगती हैं तथा नंबर बढना रुक जाते हैं यही नही इस चूर्ण से बच्चो की बुद्धि (Intelligence) व स्मरणशक्ति (Memory) भी बढती हैं साथ साथ ही बच्चो की रोगप्रतिकारक शक्ति (Immunty) भी बढती हैं-

आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण विटामिन सी (Vitamin C) से भरपूर  होने की वजह से त्वचा रोगों में यह बेहद उपयोगी है इसके सेवन से चर्म रोग (Skin disease) रक्तदोष, त्वचा का कालापन तथा ज्यादा पसीना (Excess sweating) आना जैसी समस्याए दूर होती है इसके नियमित सेवन से शरीर में बार बार होने वाले कील मुहासों (Acne pimple) का नाश होता है तथा त्वचा चमकीली बनती है इसके सेवन से बालों का झड़ना (Hair fall) तथा बालों का असमय काला होना भी रुकता है बालों के लिए किसी भी हेयरपैक  में अगर यह चूर्ण आधा चम्मच डाल दिया जाए तो हेयरपैक  के गुणों में शत-प्रतिशत बढ़ोतरी हो जाती है तथा सिर की गर्मी तथा संचित दोष दूर होकर सर को ठंडक मिलती है-

रसायन समान गुणकारी होने की वजह से आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण स्त्री व पुरुषों के रोगों में भी बेहद उपकारी है वंधत्व (Infertility), प्रदर, रक्तप्रदर, शुक्र दोष, शुक्राल्पता (Azoospermia), शुक्राणुओं की धीमी गतिशीलता (Low sperm motility), नपुसंकता जैसी समस्या में बेहद लाभदायक है-

नेत्र ज्योति वर्धक अनुभूत आमलकी रसायन योग

महिलाओं में होने वाले श्वेत प्रदर (Leucorrhoea) में आमलकी रसायन चूर्ण 3 ग्राम व 3 ग्राम शहद को एक केले के साथ सुबह-शाम खाने से महिलाओं में होने वाला श्वेत प्रदर, कमर दर्द, कमजोरी जैसी समस्याएं जड़ से नष्ट होती है यह हमारा कई बार आजमाया हुआ निराप्रद व अनुभूत योग हैं-

आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) लिवर तथा पेट के लिए भी उत्तम औषधि है खट्टी डकारें, गले की पेट की तथा छाती की जलन, अम्लपित्त (Acidity), चक्कर (Dizziness), तृषारोग, ब्लड प्रेशर, घबराहट (Anxiety) जैसी समस्या में इस चूर्ण को 3 से 5 ग्राम की मात्रा में लेकर शक्कर के पानी के साथ मिलाकर शरबत बनाकर पीने से तुरंत लाभ होता है-

आमलकी रसायन चूर्ण मधुप्रमेह (Diabetes) की भी उत्तम औषधि है यह मधुप्रमेह होने से बचाता है तथा मूत्र में जाने वाली शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है-

इस तरह आमलकी रसायन (Amalki Rasayan) चूर्ण स्त्री, पुरुष छोटे, बड़े, बच्चे, वृध्ध सभी को समान रुप से गुण देने वाला रसायन सम योग है इसके नियमित सेवन से रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती है, त्वचा सुंदर व चमकीली बनती है, बाल मजबूत और घने बनते हैं, आंखों की दृष्टि तेज रहती है, शरीर में बल रहता है, तथा छोटे-मोटे रोग नहीं होते बड़े रोगों के सामने लड़ने की शरीर की प्रतिकारक शक्ति व बल में बढ़ोतरी होने की वजह से इस चूर्ण के सेवन से शरीर जल्दी से स्वस्थ होता हैं-


नोट- 


आमलकी रसायन चूर्ण बना बनाया बाजार में मिलता है लेकिन गुणवत्ता की दृष्टि से तथा उत्तम लाभ पाने हेतु आप इसे स्वयं घर पर बनाएं या किसी अनुभवी वैध्य से बनवा ले-

दुसरा फायदा यह है की बाजार में इस चूर्ण को 21 भावनाए देकर बनाया जाता है लेकिन आप इसे जब घर पर बनवाते हैं या किसी वैदय से बनवाते हैं तब आप इस चूर्ण को ज्यादा भावनाए देकर इसे ज्यादा गुणकारी बना सकते हैं-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हमने अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ी है कृपया सबसे नीचे दिए सभी प्रकाशित पोस्ट के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai


Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...