This Website is all about The Treatment and solutions of General Health Problems and Beauty Tips, Sexual Related Problems and it's solution for Male and Females. Home Treatment, Ayurveda Treatment, Homeopathic Remedies. Ayurveda Treatment Tips, Health, Beauty and Wellness Related Problems and Treatment for Male , Female and Children too.

12 अगस्त 2018

फ्रोजन शोल्डर की एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर से चिकित्सा

Acupressure and Acupuncture Treatment of Frozen Shoulder


हमारे शरीर के किसी महत्वपूर्ण अंग को जब चोट लग जाती है या गंभीर क्षति जाए पहुंचकर उसकी कार्य क्षमता घट जाती है या कम हो जाती है और हमें रोजमर्रा के जीवन में असहजता का सामना करना पड़ता है तब हमें हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अवयवो की कीमत या उसकी महत्ता समझ में आती है और हमारे शरीर की सामान्य समझे जाने वाली अंग की महत्ता समझाने वाला गंभीर ना होते हुए भी रोगी को हरदम बेज़ार व परेशान करने वाला रोग है फ्रोजन शोल्डर (Frozen Shoulder) इसमें किसी वजह से कंधों पर तथा मसल्स में सूजन व जकड़न आ जाती है कंधा तथा हाथ आसानी से हिलने डुलने में तकलीफ होने लगती है सर्वसामान्य कही जाने वाली क्रियाएं जैसे कि हाथ को पीछे की तरफ ले जाना, बाहर घूमाना, हाथ ऊपर करना तथा दैनिक कार्य करना, वजन उठाना, महिला हो तो रसोई करना जैसे कार्य करना भी करना मुश्किल हो जाता है-वैद्कीय भाषा में इसे ही फ्रोजन शोल्डर कहा गया है-

फ्रोजन शोल्डर की एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर से चिकित्सा

एक्यूप्रेशर (Acupressure) एक्यूपंक्चर, मोक्षीबश्चन (Moxibustion) सुजोक तथा मेरिडियन जैसी वैकल्पिक चिकित्सा प्रणालियों में फ्रोजेन शोल्डर (Frozen Shoulder) के लिए उत्तम चिकित्सा मौजूद है एक्यूपंक्चर चिकित्सा जहां आप अनुभवी चिकित्सकों की सहायता से ले सकते हैं वही एक्यूप्रेशर, सुजोक चिकित्सा स्वयं भी कर सकते हैं संपूर्ण निरापद होने के साथ-साथ यह फ्रोजन शोल्डर में स्थायी लाभ भी देती है-

एक्यूप्रेशर-एक्यूपंक्चर चिकित्सा-


फ्रोजन शोल्डर की एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर से चिकित्सा

एक्यूपंक्चर के सिद्धांत के मुताबिक शरीर में रोग होने का मतलब किन्ही वजहों से शरीर में आई ऊर्जा की रुकावट ही है एक्यूपंक्चर में विशिष्ट बिंदुओं पर पतली धातु की सूईयाँ (Needles) चुभोई जाती है जिस के दबाव से वह पॉइंट या बिंदु उत्तेजित (Stimulate) होता है तथा उस में ऊर्जा (Qi Flow) का बहना सुचारू होने लगता है और इसी तरह शरीर में ऊर्जा की रुकावटें दूर होती हैं व शारीरिक समस्याओं से मुक्ति मिलती है सुई का प्रयोग होने के बावजूद भी एक्यूपंक्चर एक दर्द रहित (Painless) तथा दूसरे किसी भी साइड इफेक्ट रहित निराप्रद प्राकृतिक चिकित्सा है जो दीर्घकालीन समस्याओं पर उत्तम असर करती है-

मोक्षीबश्चन (Moxibustion)-


यह शब्द जापानी शब्द पर से आया हुआ शब्द है जिसका अर्थ होता है औषधि जड़ी बूटी को जलाना इसमें मगवर्ट (Mugwort) नामक वनस्पति से बनाए हुए छोटे छोटे सिगार या अगरबत्ती नुमा बत्तियो को जलाया जाता है तथा उसे शरीर के विशिष्ट मर्म बिंदु या एक्यूप्रेशर (Accupressure Points) पॉइंट पर लगाया जाता है और उसका धूआ त्वचा में उतारा जाता है मोक्षीबशचन से औषधि तथा गर्मी दोनों का लाभ एक साथ मिलता है तथा शरीर में उत्पन्न ऊर्जा की रुकावटें दूर होती हैं रक्त संचार बढ़ता है, जिससे अंगों का जकड़ना, अकड़ना, दर्द तथा सूजन कम होती है यह कमर दर्द फ्रोजन शोल्डर, जोड़ो के दर्द, सायटिका जेसी समस्याओ पर बेहद लाभदायी हैं-

मेरिडियन मसाज (Meridian Massage)-


फ्रोजन शोल्डर की एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर से चिकित्सा

इसमें विभिन्न समस्याओं के मुताबिक शरीर पर विभिन्न एक्यू पॉइंट या मर्म बिंदुओं (Marma Bindu) पर विशिष्ट तरीके से दबाव देकर मसाज किया जाता है जिससे शरीर में रुकी हुई उर्जा या ब्लॉक एनर्जी सुचारू होती है जिससे शरीर में ताजगी व शक्ति का संचार होता है रक्त संचार सुचारू होने से शरीर से विषैले तत्व आसानी से बाहर निकल जाते हैं तथा शरीर में आई रुकावट तथा रोग ठीक होने में आसानी होती है यह मसाज आप विभिन्न औषधीय तेल, मसाज साल्व (Massage Salve) मसाज जेल तथा पाउडर का इस्तेमाल करके कर सकते हैं-


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

GET INFORMATION ON YOUR MAIL

Loading...