6 सितंबर 2018

ह्रदय की बीमारियों पर एक्यूप्रेशर से स्वयम मसाज व चिकित्सा

Acupressure Self Massage Treatment for Cardiac Problems


हार्ट अटैक, हार्ट अटैक के बाद ह्रदय सम्बंधित तकलीफे, बैचेनी, घबराहट, ह्रदय दर्द, धड़कन तेज या कम होना, Tachycardia, Arrhythmia, चक्कर, मूर्छा, उच्चरक्तचाप, निम्न रक्तचाप, बेहोशी, साँस फूलना, साँस लेने में परेशानी, थकान, एंजाइटी, छाती ने जकड़न, छाती मे दर्द, अस्थमा जैसी समस्याओं पर...

ह्रदय की बीमारियों पर एक्यूप्रेशर से स्वयम मसाज व चिकित्सा


ह्रदय की बीमारियों पर एक्यूप्रेशर से स्वयम मसाज व चिकित्सा

उपर चित्र में दिखाए गए पॉइंट्स पर दिन में 3 बार 5-5 मिनिट के लिए प्रेशर या मसाज करें यह ट्रीटमेंट्स प्रीवेंटिव तथा मुख्य ट्रीटमेंट भी है-

Emergency Cardiac Points


उपर चित्र में दिखाए गए दोनों बिंदुओ पर क्लॉकवाइज व एंटीक्लॉकवाइज तथा पम्पिंग टेक्निक से दबाव दे व मसाज करें यह दोनों पॉइंट्स दोनों हाथ में इमरजंसी के लिए उत्तम पॉइंट्स है..


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...