3 सितंबर 2018

नजला जुकाम के अनुभूत उपचार प्रयोग


सर्दी जुकाम (Cold and Cough) की समस्या यूं तो बहुत मामूली लगती है परंतु पुरानी होने पर अत्यंत कष्टदायक वह कभी-कभी असाध्य भी हो सकती है ज्यादा समय सर्दी जुकाम रहने से जीवन तत्व की कमी या रोगप्रतिकारक शक्ति घटने लगती है जिससे अन्य कई समस्याएं भी खड़ी हो सकती हैं आजकल अनियमित जीवनशैली व मौसमी असंतुलन तथा प्रदूषण के बढ़ते स्तर की वजह से हर किसी को यह समस्या हो रही है एलोपैथी से सिर्फ लक्षणों पर काम करके उसे दबाया जाता है लेकिन समस्या की जड़ ज्यों की त्यों बनी रहती है और फिर दवाई लेने तक आराम मिलता है लेकिन बार-बार यह समस्या खड़ी हो जाती है आज हम आपको सर्दी जुकाम और नजला से बचने की तथा उन्हें ठीक करने के आसान अनुभूत व घरेलू उपचार बताएंगे-

नजला जुकाम के अनुभूत उपचार प्रयोग

कारण-


असंयमित खानपान, चाय, नमकीन, तेल युक्त पदार्थों का अति सेवन, फ्रिज की चीजें, कोल्ड्रिंग, आइसक्रीम का अति सेवन इसके अतिरिक्त ऋतु परिवर्तन ठंड लगना, पानी में भीग जाना, ठंडे पानी का अति सेवन तथा सर्दियों में बिना कान मुंह सर ढके के हवा में घूमने से भी सर्दी जुकाम की तकलीफ हो जाती है-

लक्षण-


सर्दी जुकाम होते ही कब्ज रहने लगता है जिससे भूख कम लगती है सिर दर्द, बदन दर्द, शरीर में ज्वर, आंख से पानी गिरता है, गले में खराश व छाले आते हैं, मुंह का स्वाद बिगड़ जाता है, थूक निगलने में व भोजन निगलने में कठिनाई होती है, गले में दर्द होता है तथा कभी-कभी नाक से पानी आना या नाक बंद हो जाना जैसी समस्या होती है आवाज बैठ जाना, बार-बार खांसी चलना, छाती में दर्द होना, पीठ में दर्द होना तथा कमजोरी लगना यह लक्षण सर्दी खासी पुरानी होने पर पाए जाते हैं-

सर्दी जुकाम नजले के लिए घरेलू नुस्खे-


1- शहद और अदरक का रस एक एक चम्मच मिलाकर सुबह-शाम पीने से जुकाम ठीक हो जाता है-

2- नागर वेल के 2-4 कोरे पत्ते चबा लेने से सर्दी जुकाम में आराम मिलता है-

3- अजवाइन को पीसकर उसमें प्याज का रस मिलाकर छाती पर मलने से जुकाम में बदन दर्द में व हल्के बुखार में आराम मिलता है इससे शरीर में स्फूर्ति आती है जुकाम कम होता है-

4- सोंठ के चूर्ण में गुड और थोड़ा सा घी डालकर 30-40 ग्राम के लड्डू बनाएं यह लड्डू सुबह-शाम खाने से जुकाम दूर हो जाता है-

5- कुछ लोगों को हमेशा जुकाम रहता है ऐसे व्यक्तियों ने तुलसी का रस लहसुन का रस काली मिर्च मिलाकर सुबह-शाम लेने से जुकाम से पूर्ण रुप से छुटकारा मिल जाता है-

6- कुनकुने पानी में एप्सम साल्ट मिलाकर उसमें पैर रखने से जुकाम व बदन दर्द में आराम मिलता है-

7- गुड़ की डली के बीच जरा सी पीसी हुई हींग और दो काली मिर्च कूटकर डालकर गोली बनाए इस गोली का सुबह शाम सेवन करने से जुकाम में आराम होता है-

नजला जुकाम के अनुभूत उपचार प्रयोग

8- पांच बरगद के कोमल पत्ते तथा सात तुलसी के पत्तों को उबालकर चाय बना ले इसमें आधा चम्मच मिश्री मिला लें इस चाय को दिन में दो बार पीने से नजला, जुखाम, तथा कफ संबंधित समस्याए दूर होती है-

9- सोंठ काली मिर्च और अजवाइन का चूर्ण खांसी अरुचि दूर करता है इसके सेवन से पाच्नाग्नि प्रदीप्त होती है यह चूर्ण 1 ग्राम शहद के साथ कुकुर खांसी में भी लाभदायक है-

10- सुदर्शन चूर्ण को गर्म पानी के साथ दिन में दो बार लेने से नजला जुखाम बदन दर्द तथा ज्वर में भी लाभ होता है-

11- नीलगिरी का तेल छाती पीठ व कनपटी पर मलने से तथा सूंधने से जुकाम ठीक होता है बंद नाक खुलती है छाती का भारीपन कम होता है-

12- रात्रि को सोने से पहले दोनों नासा छिद्रों में गाय के घी की कुछ बूंदे नस्य रुप से डालने से सर दर्द, माइग्रेन, साइनस तथा सर्दी दूर होती है-सरसों के तेल को कान में तथा नाक में डालने से सर्दी जुकाम नजला में राहत मिलती है-

13- खट्टे दही में गुड़ मिलाकर और उसमें काली मिर्च का चूर्ण डालकर सेवन करने से नया पुराना सब प्रकार का जुकाम नजला दूर होता है-


विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Chetna Kanchan Bhagat Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...