Blood Pressure Destroyer Home Remedies-ब्लड प्रेशर नाशक घरेलू उपचार

What Ideal Blood Pressure-आदर्श ब्लड प्रेशर क्या है


शायद आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि आज हमारे देश में बीस करोड़ से भी जादा स्त्री-पुरुष Blood Pressure (ब्लड प्रेशर) के घातक रोग से ग्रसित है। जबकि इसके पीछे मुख्य कारण हमारा बिगड़ता खान पान ही है। आज हम आपसे ब्लड प्रेशर नाशक घरेलू उपचार के बारे में चर्चा करते है। ये सभी अनुभूत नुस्खे आपके Ideal Blood Pressure (आदर्श उच्च रक्तचाप) पूर्णतया सहायक है और आसानी से आप घर पर प्रयोग करके इसका लाभ ले सकते है। 


Blood Pressure Destroyer Home Remedies-ब्लड प्रेशर नाशक घरेलू उपचार

Hypertension (उच्च रक्तचाप) की ख़ास वजह आपका Mental stress (मानसिक तनाव) भी हो सकता है। क्युकि आधुनिक परिवेश में जादा से जादा धन कमाने की दौड़ में आपका संतोष रूपी धन तो खोता ही जा रहा है। यही असंतुष्टि हमारे मानसिक तनाव का आधार है और ब्लड-प्रेशर के बढ़ने का मूल कारण भी है। 

मानसिक तनाव  के कारण मनुष्य अनेक व्याधियों से भी घिरता जा रहा है। परिणाम स्वरूप High Blood Pressure (उच्चरक्तचाप) की ज्वलंत समस्या आज हमारे सामने है। जब रक्त संवहन करने वाली धमनी में बाधा के कारण या अन्य कई कारणों से मानसिक तनाव, मोटापा, गुर्दे की खराबी, शरीर के अंदर नमक का संचय, ह्रदय की विकृति, अहितकर आहार-विहार के कारण होते है। उच्च रक्तचाप में बैचेनी, धडकनों का तेज होना, जलन, चीटियों से चलने का आभास होना आदि मुख्य लक्षण है। 

रक्तचाप नाशक घरेलू नुस्खे (Blood Pressure Destroyer Home Remedies)-


1- ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) की अवस्था में सूर्योदय से पहले आपको आठ अंजुल या दो गिलास लगभग जल पीना चाहिए और प्रतिदिन टहलने अवश्य जाना आपके हितकर है। 

2- प्याज का रस और शुद्ध शहद बराबर मात्रा में मिलाकर दिन में दो बार 10-10 ग्राम सेवन करे। चूँकि प्याज का रस Cholesterol (कोलेस्ट्रोल) को कम करता है तथा दिल के दौरे को भी रोकता है और आपके स्नायुतंत्र (Nerve fibers) को भी बल प्रदान करता है।

3- तरबूज के बीज (Melon Seeds) और खसखस (Poppy Seed) बराबर की मात्रा में पीसकर रख ले और इसमें से तीन-तीन ग्राम की मात्रा प्रात:काल खाली पेट सेवन करे इससे  कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) पिघलता है और आपका  उच्च-रक्तचाप (High Blood Pressure) भी नियंत्रित रहता है।

4- मेथी दाना (Fenugreek Seeds) का चूर्ण बनाए और इसे तीन-तीन ग्राम की मात्रा सुबह खाली पेट पन्द्रह दिन ले इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

5- आपका ब्लड प्रेशर सामान्य रहे तो इसके लिए जब भी आप खाना खाए। खाने के बाद कच्चे लहसुन की एक या दो फांक को टुकड़े करके मुनक्का में लपेट कर खा ले। इस प्रयोग से आपका ब्लड प्रेशर सामान्य ही रहेगा।

6- अगर आप थोडा सा आलस छोड़ कर बराबर मात्रा में  गेहूं (Wheat) और काला-चना (Black Gram) लेकर पिसवाये।  अब आप बिना चोकर निकाले ही इस आंटे की रोटी बना कर सेवन करेगे तो फिर आपका ब्लड-प्रेशर सामान्य रहेगा। इसके साथ ही आपको कब्ज से भी मुक्ति मिलेगी। पहले लोग जो मोटा अनाज खाते थे लेकिन आज के लोग उनको पागल समझते है। जबकि वो आज आप की अपेक्षा जादा स्वस्थ हुआ करते थे। लेकिन अभी कुछ नहीं बिगड़ा है बाजार में थैली में बिकने वाले आटे का पिंड छोड़ दीजिये और खुद के स्वास्थ के लिए पिसवा कर ही आंटे का सेवन शुरू कर दे। आपको पता है कब्ज कई रोगों को जन्म देता है बाजार का आटा फाइबर निकाला होता है। जो आपकी आँतों में चिपक जाता है और कब्ज होने का कारण भी बनता है। घर में गेहूं घो कर सुखा कर पिसवाने से कीटाणु नाशक रसायन से भी आपके शरीर को नुकसान नहीं होगा।

7- बजार से असली सात पीस पांच मुखी रुद्राक्ष (Rudraksh) ले आये। इसकी पहचान है कि असली रुद्राक्ष पानी में डूब जाता है। अब आप इन रुद्राक्ष को रात को एक गिलास जल में डालकर रख दे और सुबह-सुबह इन रुद्राक्ष के दानो को निकालकर केवल जल को पी ले। अब वापस दूसरे दिन के लिए फिर इन्ही रुद्राक्ष को जल में डालकर रख दे। इस प्रकार आप नियमित करते रहे तो आपका ब्लड-प्रेशर सामान्य होने लगेगा।

8- चलो आपको गरीबों का भी एक नुस्खा बता देता हूँ। जिनके पास अमीरी नुस्खे प्रयोग करने के भी पैसे नहीं है वो निराश न हो गेहूं की बासी रोटी प्रात:काल दूध में भिगो कर खा ले। इस प्रयोग से भी आपका उच्च-रक्तचाप सामान्य रहेगा और डॉक्टर की फीस नहीं लगेगी।

9- असली बादाम रोगन की चार-पांच बूंद रात को सोते समय नाक में डाले। ये भी परीक्षित नुस्खा है आपका रक्त चाप सामान्य रहेगा और सिर दर्द आदि सभी नाक के रोग भी ठीक हो जायेगे तथा दिमाग में भी ताजगी बनी रहेगी।

10- आइये आपको तीन चीजो को एक साथ सामान्य रखने के लिए एक नुस्खा बताते है जो आपके ही घर में ही है और बहुत ही सस्ती चीज है। लेकिन आप उसे नियमित करे। आप दस से पन्द्रह ग्राम मेथी दाना रोज रात को थोड़े पानी में भिगों दे और सुबह दाना निकाल कर सिर्फ पानी को पी ले। इसे आप लगातार आठ दिन करके देख ले आपका रक्तचाप-कोलेस्ट्रोल-मोटापा-मधुमेह तीनो ही सामान्य पे आ जाएगा।

11- नीम के दो पत्ते और चार-पांच तुलसी के पत्ते सुबह खा लिया करे तथा नाश्ते में खाली पेट पपीता एक माह खा ले आपका रक्त चाप सामान्य हो जाएगा।

12- यदि सर्दी का मौसम है तो प्रतिदिन एक कली लहसुन को छील कर खाया करे रक्तचाप सामान्य रहेगा।

13- आंवला का स्वरस बाजार से लायें। एक से दो चम्मच नित्य ले। यह ह्रदय के आसपास की चर्बी हटाकर ये भी आपके रक्तचाप को सामान्य करता है।

14- क्या आप जानते है कि जो लोग जादा नंगे पाँव रहते है या चलते है उनको कभी उच्च रक्त नहीं होता है। शायद आपको यकीन न हो तो आजमा कर देख ले। उच्च-रक्तचाप रोगी को गाजर का रस भी काफी फायदेमंद है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...