Indian Height and Weight According to Age-भारतीय आयु के अनुसार ऊँचाई और वजन

Indian Height and Weight According to Age-भारतीय आयु के अनुसार ऊँचाई और वजन


Indian Height Weight Chart According to Age
Ideal Weight Calculator
Weight Chart by Age
Height Weight Age Chart
Height Weight Chart Female
Height and Weight Chart in Kg

आज बहुत से लोग अपनी Debility (दुर्बलता) या Weight (वजन) को लेकर काफी लोग चिंतित व भयभीत रहते है इस लेख में हम आपको Body Mass Index (बॉडी मास इंडेक्स) यानी (बीएमआई) के हिसाब से आपका वजन कितना होना चाहिए इसका भी फार्मूला बताएगें जिससे आप स्वयं ही कैलकुलेट करके अपना Standard weight (मानक वजन) क्या होना चाहिए आसानी से जान सकते है।

भारतीय आयु के अनुसार ऊँचाई और वजन

आखिर वह कौन सा वर्ग है जो अपने को Debility (दुबला) मानता है या जिनको अपने Weight (वजन) को लेकर काफी चिंता है दरअसल ये सब उस वर्ग के लोग हैं जिन्हे या तो भूख बहुत कम लगती है या उनका वजन कम है या फिर जो लोग जरूरत से ज्यादा Weak (दुबले) हैं वैसे तो आजकल वजन बढ़ाने के लिए कई दवाईयां आती हैं लेकिन वजन बढ़ाने के लिए किसी दवाई का प्रयोग न करके बल्कि Natural (प्राक़तिक) या Ayurvedic System (आयुर्वेदिक प्रणाली) का ही इस्तेमाल करना चाहिए और Weight Gain (वजन बढ़ाने) के लिए Ayurvedic Prescriptions (आयुर्वेदिक नुस्खों) को अपनाने से किसी तरह को कोई Side Effect (साइड इफेक्ट) भी नहीं होता है। 


आयुर्वेद के अनुसार अत्यंत मोटे तथा Extremely Lean (अत्यंत दुबले) शरीर वाले व्यक्तियों को निंदित व्यक्तियों की श्रेणी में माना गया है Debility (दुबलापन) एक रोग न होकर मिथ्या आहार-विहार एवं असंयम का परिणाम मात्र है।

Cause of Debility Disease-दुर्बलता रोग का कारण


Debility (दुबलापन) रोग होने का सबसे प्रमुख कारण मनुष्य के शरीर में स्थित कुछ कीटाणुओं की रासायनिक क्रिया का प्रभाव होना है जिसकी गति Thayrayid Gland (थायरायइड ग्रंथि) पर भी निर्भर करती हैं यह गले के पास शरीर की गर्मी बढ़ाती है तथा अस्थियों की वृद्धि करने में मदद करती है तथा यह ग्रंथि जिस मनुष्य में जितनी ही अधिक कमजोर और छोटी होगी वह मनुष्य उतना ही कमजोर और पतला होता है तथा ठीक इसके विपरीत जिस मनुष्य में यह थायरायइड ग्रंथि स्वस्थ और मोटी होगी वह मनुष्य उतना ही सबल और मोटा होगा।

वैसे देखा जाए तो 30 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति का Weight (वजन) यदि उसके शरीर और उम्र के अनुपात सामान्य से कम है तो वह दुबला व्यक्ति कहलाता है तथा जो व्यक्ति अधिक दुबला होता है वह किसी भी कार्य को करने में थक जाता है तथा उसके शरीर में रोग Immunity (प्रतिरोधक क्षमता) कम हो जाती है ऐसे व्यक्ति को कोई भी रोग जैसे-Respiratory Disease (सांस का रोग), Tuberculosis (क्षय रोग), Heart Disease (हृदय रोग), Kidney Disease (गुर्दें के रोग), Typhoid (टायफाइड), Cancer (कैंसर) बहुत जल्दी हो जाते हैं यदि ऐसे व्यक्ति को अगर इस प्रकार के रोग होने के लक्षण दिखे तो जल्दी ही इनका उपचार कर लेना चाहिए नहीं तो उसका रोग आसाध्य हो सकता है और उसे ठीक होने में बहुत दिक्कत आ सकती है अधिक दुबली स्त्री गर्भवती होने के समय में Malnutrition (कुपोषण) का शिकार हो सकती है। 

अत्यंत दुबले व्यक्ति के नितम्ब, पेट और ग्रीवा शुष्क होते हैं तथा अंगुलियों के पर्व मोटे तथा शरीर पर शिराओं का जाल फैला होता है जो स्पष्ट दिखता है तथा शरीर पर ऊपरी त्वचा और Bones (अस्थियाँ) ही शेष दिखाई देती हैं। 

इसमें Indigestion (अग्निमांद्य) या Gastric fire (जठराग्नि) का मंद होना ही अतिकृशता का प्रमुख कारण है अग्नि के मंद होने से व्यक्ति अल्प मात्रा में भोजन करता है जिससे आहार रस या ‘रस’ धातु का निर्माण भी अल्प मात्रा में होता है इस कारण शरीर में बनने वाले अन्य धातु (रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा और शुक्रधातु) भी पोषण के अभाव में अत्यंत अल्प मात्रा में रह जाते हैं जिसके फलस्वरूप व्यक्ति निरंतर कमजोर से अधिक कमजोर होता जाता है। 


अतिरिक्त Fasting (लंघन) अल्प मात्रा में भोजन तथा रूखे अन्नपान का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से भी शरीर की धातुओं का पोषण नहीं होता है आइये आप मानक परिस्थितियों में जाने कि आपका वास्तविक वजन कितना होना चाहिए। 

What should be your Weight-आपका वजन कितना होना चाहिए


Height Weight Chart Female-महिला ऊंचाई वजन चार्ट

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आपके Body Mass Index (बॉडी मास इंडेक्स) यानी BMI (बीएमआई) के हिसाब से यह जानने कि कोशिश करें कि आपकी लंबाई और उम्र के हिसाब से आपका वजन क‌ितना होना चाहिए आइये जाने कि इसका फार्मूला क्या है... 

BMI = Weight (kg) / (Height X Height (in Meters)

बीएमआई = वजन (किलोग्राम) / (ऊंचाई X ऊंचाई (मीटर में)

नोट- आमतौर पर 18.5 से 24.9 तक Body Mass Index (बॉडी मास इंडेक्स) आदर्श स्थिति है इसलिए वजन बढ़ाने के क्रम में ध्यान रखें कि आपका वजन इसके ही अंतर्गत रहें। 

Click Here-

Upchar और प्रयोग की सभी पोस्ट

1 टिप्पणी: