Careful on Increasing Cholesterol-बढ़ते कोलेस्ट्रॉल पर ध्यान दें

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर ध्यान रखें-Take care When Increases Cholesterol


मनुष्य शरीर में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) बीस से पच्चीस प्रतिशत हमारा लीवर ही उत्पन्न करता है। लेकिन ये कोलेस्ट्रॉल रक्त में घुलता नही है। ज्यादातर कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर में भोजन के माध्यम से ही पहुँचता है। जिस कारण हमारे शरीर में ज़्यादा कोलेस्ट्रॉल की मात्रा होने पर हमें गंभीर बिमारियाँ भी हो सकती है। जैसे-आर्टरी ब्लोंकेज (Artery Blockage), हार्ट अटैक (Heart Attack), उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) आदि। इस प्रकार से कई समस्या कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर होती है। आइये जानते है कि कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखने के लिए हमे क्या खाना या नहीं खाना चाहिए। क्या सावधानी की हमे आवश्यकता है। 

Careful on Increasing Cholesterol-बढ़ते कोलेस्ट्रॉल पर ध्यान दें

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल के लिए क्या खाएं (What to eat for Cholesterol Control)-


जिन लोगों को कोलेस्ट्रोल बढने (Increased Cholesterol) पर सावधानी अपनानी चाहिए वो कृपया अपने खानपान में अधिकाधिक मौसमी फल व सब्ज़ियों को शामिल करें। इनमें संतरे का जूस प्रमुख है। जिसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। इसके अलावा ज़ीरो कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) वाले पदार्थ हैं जैसे- ताज़ा फल, सब्ज़ियां और फ़ाइबरयुक्त पदार्थ अपने भोजन में अवश्य ही शामिल करें तथा सुबह नाश्ते में कॉर्नफ्लैक्स जैसे आहार फ़ायदेमंद रहते हैं। 

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण के लिए न खाएं (Do not eat for Cholesterol Control)-


यदि आपको बढे हुए कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) की शिकायत है तो सबसे पहले आप रेड मीट का सेवन बिलकुल भी न करें। आप दूध, बटर, घी, क्रीम यहां तक कि आइस्क्रीम जैसे पदार्थ, जिनमें भारी मात्रा मेें कोलेस्ट्रॉल होता है इनको भी  खाने से बचें। मावा से बनी मिठाइयां स्लो पॉइज़न का काम करती हैं। आप इनसे दूर ही रहें तथा सिगरेट-शराब का सेवन कम करें। 

कोलेस्ट्रॉल में सावधानियां (Precautions in Cholesterol)-


दवा के अलावा कुछ सावधानियों और खानपान में सुधार लाकर भी कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को कंट्रोल किया जा सकता है। क्योंकि खानपान व रहन-सहन के तौर-तरीक़ों में बिगड़ते संतुलन की वजह से ही शहरी लोग विशेष रूप से हाई कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) के शिकार हो रहे हैं। इसलिए आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार अपने खानपान और जीवनशैली में परिवर्तन करें। 

आप अपने शरीर का वज़न बढ़ने न दें। आप शरीर की एक्स्ट्रा कैलोरीज़ बर्न करें यानी ज़्यादा से ज़्यादा पैदल चलें।  इसके लिए नियमित एक्सरसाइज़ इसमें आपकी मददगार है। जॉगिंग, स्विमिंग, डांसिंग और एरोबिक्स नियमित रूप से करें। यदि आप किसी ऊँची बिल्डिंग मेें रहते है तो चढ़ने के लिए लिफ़्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें। 

यदि आपको हार्ट से जुड़ी बीमारी होने का ज़रा भी शक है तो तुरंत हार्ट स्पेशलिस्ट की सलाह लें। जो लोग चिकनाई वाले आहार कम खाते हैं उनके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का अनुपात कम होता है। खाद्य पदार्थ ख़रीदते समय उनके लेबल गौर से पढ़ लें और ऐसे ही पदार्थ ख़रीदें जिनमें वसा और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम हो।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...